Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » Top 5 Places Of Kanyakumari In Hindi, How To Reach Kanyakumari, कन्याकुमारी- यहां होता है दो समुद्रों का मिलन, 5 जगहें जो इस शहर को बनाती हैं बेस्ट डेस्टिनेशन

कन्याकुमारी- यहां होता है दो समुद्रों का मिलन, 5 जगहें जो इस शहर को बनाती हैं बेस्ट डेस्टिनेशन

कन्याकुमारी दक्षिण भारत में पर्यटकों के लिए आकर्षण का मुख्य केंद्र है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 01, 2018, 02:22 PM IST

  • कन्याकुमारी- यहां होता है दो समुद्रों का मिलन, 5 जगहें जो इस शहर को बनाती हैं बेस्ट डेस्टिनेशन, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    ट्रैवल डेस्क। अगर आप तीर्थ यात्रा के साथ ही समुद्र के आसपास के प्राकृतिक वातावरण का लुत्फ लेना चाहते हैं तो कन्याकुमारी शानदार डेस्टिनेशन है। तमिलनाड़ू राज्य के दक्षिण तट पर कन्याकुमारी शहर स्थित है। कन्याकुमारी में आप हिंद महासागर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर का संगम देख सकते हैं। यहां 2 समुद्रों के मिलन दिखाई देता है। ये नजारा सभी पर्यटकों को जीवनभर याद रहता है। 2 समुद्रों के मिलन के साथ ही कन्याकुमारी में घूमने के लिए और भी कई जगहें हैं, जहां आप जा सकते हैं। यहां जानिए कन्याकुमारी की खास जगहें कौन-कौन सी हैं...

    पहली जगह है कन्याकुमारी मंदिर

    यहां का कन्याकुमारी मंदिर पर्यटकों के लिए बहुत ही खास है। यहां देवी-देवताओं के दर्शन के साथ ही समुद्र का विशाल तट देख सकते हैं। ये मंदिर समुद्र तट पर ही है, इस कारण समुद्र की लहरें इससे टकराती रहती हैं। ये नजारा बहुत ही आकर्षक लगता है।

    दूसरी जगह है विवेकानंद स्मारक

    कन्याकुमारी के समुद्र की बीच में एक बड़ी चट्टान पर बना हुआ है विवेकानंद स्मारक। माना जाता है कि इसी जगह पर स्वामी विवेकानंद ने तपस्या की थी। इस स्मारक में विवेकानंद की विशाल प्रतिमा भी है। यहां तक पहुंचने के लिए आवागमन के कई साधन आसानी से मिल जाते हैं।

    तीसरी जगह है विवेकानंद रॉक मेमोरियल

    विवेकानंद रॉक मेमोरियल समुद्र में उभरी दूसरी विशाल चट्टान पर मौजूद है। यह चट्टान पर्यटकों को आकर्षित करता है। यहां मान्यता है कि जब विवेकानंद कन्याकुमारी आये थे तब वे इस चट्टान पर बैठा करते थे। यहीं से उन्हें दिव्य ज्ञान अर्जित हुआ था।

    चौथी जगह है गुगनंत स्वामी मंदिर

    माना जाता है कि यहां का गुगनंत स्वामी मंदिर करीब 100 साल पुराना है। इसे चोल राजा ने बनवाया था। ये मंदिर भी यहां के खास पर्यटन स्थलों में से एक है।

    पांचवीं जगह है गांधी स्मारक

    कन्याकुमारी मंदिर के पास ही गांधी स्मारक स्थित है। महात्मा गांधी के अस्थिकलश को इसी जगह पर रखा गया है। गांधी स्मारक में आप गांधीजी के जीवन से जुड़ीं चीजों को भी देख सकते हैं।

    ये भी हैं खास जगहें

    कन्याकुमारी में कवि तिरुवल्लुवर की विशाल प्रतिमा, उदयगिरि किला, नागरकोइल, सुचिंद्रम आदि जगहें भी देखने योग्य हैं।

    कैसे पहुंचें कन्याकुमारी

    वायु मार्ग -कन्याकुमारी का निकटतम हवाई अड्डा त्रिवेंद्रम है। त्रिवेंद्रम से कन्याकुमारी की दूरी लगभग 95 किलोमीटर है। यह नगर दिल्ली, मुंबई, सेठानी, कोचीन, बैंगलोर आदि सभी बड़े शहरों से वायु मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। त्रिवेंद्रम से कन्याकुमारी तक बस, टैक्सी या ट्रेन से पहुंच सकते हैं।

    रेल मार्ग -रेल मार्ग से कन्याकुमारी देश के सभी बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है। यहां पहुंचने वाली प्रमुख रेल हैं हिमसागर एक्सप्रेस, कन्याकुमारी एक्सप्रेस, मदुरैलिंक एक्सप्रेस आदि।

    सड़क मार्ग -दक्षिण भारत के सभी प्रमुख शहरों से यहां पहुंचने के लिए कई बसें आसानी से मिल जाती हैं।

  • कन्याकुमारी- यहां होता है दो समुद्रों का मिलन, 5 जगहें जो इस शहर को बनाती हैं बेस्ट डेस्टिनेशन, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    कन्याकुमारी का समुद्र तट।

  • कन्याकुमारी- यहां होता है दो समुद्रों का मिलन, 5 जगहें जो इस शहर को बनाती हैं बेस्ट डेस्टिनेशन, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    कन्याकुमारी का गांधी स्मारक।

  • कन्याकुमारी- यहां होता है दो समुद्रों का मिलन, 5 जगहें जो इस शहर को बनाती हैं बेस्ट डेस्टिनेशन, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    कन्याकुमारी के समुद्र तट पर स्थित मंदिर।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×