Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » सूर्य पूजा के उपाय, Surya Puja Ke Upay In Hindi, How To Worship To Lord Sun

रोज सुबह जब भी देखें सूर्य को पहली बार तो ये एक मंत्र जरूर बोलें, मिलेगा पूरी पूजा का फल

सूर्य की पूजा करने से कुंडली के बहुत से ग्रह दोष दूर हो सकते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 08, 2018, 05:34 PM IST

  • रोज सुबह जब भी देखें सूर्य को पहली बार तो ये एक मंत्र जरूर बोलें, मिलेगा पूरी पूजा का फल, religion hindi news, rashifal news

    यूटिलिटी डेस्क. रोज सुबह जल्दी उठकर सूर्य को जल चढ़ाना बहुत पुरानी परंपरा है। शास्त्रों में बताई गई कथाओं में भी कई बार सूर्य को जल चढ़ाने और पूजा करने विशेष महत्व बताया गया है। आज भी जो लोग रोज सूर्यदेव के लिए ये एक छोटा सा काम करते हैं, उन्हें घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान मिलता है। जिन लोगों की कुंडली सूर्य अशुभ स्थिति में है, उन्हें ये उपाय जरूर करना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति ये एक काम रोज नहीं कर पाता है तो एक ऐसा मंत्र बताया गया है, जिससे जाप सूर्य को देखते हुए करने से सूर्य पूजा का पूरा फल मिल सकता है। यहां जानिए उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी पं. सुनील नागर के अनुसार ये मंत्र कौन सा है और सूर्य पूजा की सामान्य विधि...

    सूर्य ऐसे देवता हैं जो प्रत्यक्ष ही दिखाई देते हैं। उगते हुए सूर्य की पूजा करना उन्नतिकारक होता है। सुबह-सुबह निकलने वाली सूर्य किरणों से सकारात्मक प्रभाव मिलता है। जो कि शरीर को भी स्वास्थय लाभ पंहुचाती हैं।

    आप सुबह जब भी पहली बार सूर्यदेव करते हैं, तब सूर्य को प्रणाम करते हुए इस मंत्र का जाप करना चाहिए। ये मंत्र है-

    कनकवर्णमहातेजं रत्नमालाविभूषितम्।

    प्रातः काले रवि दर्शनं सर्व पाप विमोचनम्।।

    अब जानिए सूर्य पूजा की सामान्य विधि

    अगर आप रोज सूर्य की पूजा करना चाहते हैं तो जानिए सामान्य विधि। सूर्य पूजा के लिए तांबे की थाली और तांबे के लोटे का उपयोग करना चाहिए। थाली में लाल चंदन, लाल फूल रखें। एक दीपक लें। लोटे में जल लेकर उसमें एक चुटकी लाल चंदन मिला लें। लोटे में लाल फूल भी डाल लें। थाली में दीपक और लोटा रख लें।

    इसके बाद ऊँ सूर्याय नमः मंत्र का जाप करते हुए सूर्य को प्रणाम करें। लोटे से सूर्य देवता को जल चढ़ाएं। सूर्य मंत्र का जाप करते रहें। इस प्रकार से सूर्य को जल चढ़ाना सूर्य को अर्घ प्रदान करना कहलाता है।

    ये भी पढ़ें-

    इन 2 राशियों पर मेहरबान रहते हैं शनिदेव, जानिए 5-5 खास बातें

    राशिफल- 18 अप्रैल से शनि होगा वक्री, नाम अक्षर से जानें किन राशियों का होगा भाग्योदय

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×