Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan» Shani Jayanti 2018, Shani Jayanti On 15 May, Shani Puja Vidhi, How To Worship Shani

15 मई को शनि जयंती पर चढ़ाएं मंदिर में 4 चीजें, दूर हो सकती हैं समस्याएं

शनि के 10 नामों का जाप करने से सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 13, 2018, 07:12 PM IST

  • 15 मई को शनि जयंती पर चढ़ाएं मंदिर में 4 चीजें, दूर हो सकती हैं समस्याएं, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    रिलिजन डेस्क। मंगलवार, 15 मई को शनि जयंती है और इस दिन शुभ फल पाने के लिए शनि की विशेष पूजा की जाती है और काफी लोग शनि मंदिर जाते हैं। यहां जानिए कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार 4 ऐसी चीजें जो शनिदेव को चढ़ाने से परेशानियां दूर हो सकती हैं।

    पहली चीज है नीले फूल

    शनि को अपराजिता के फूल चढ़ाएं। ये फूल नीले होते हैं। शास्त्रों के अनुसार शनि नीले वस्त्र धारण किए रहते हैं और उन्हें नीला रंग प्रिय है। इसी वजह से शनि को ये फूल चढ़ाते हैं।

    दूसरी चीज है तेल

    शनि को तेल चढ़ाने की परंपरा बहुत पुराने समय से चली आ रही है और आज भी अधिकतर लोग शनिवार को तेल का दान करते हैं। 15 मई को भी शनि को तेल चढ़ाएं।

    तीसरी चीज है काले तिल

    काले तिल का कारक शनि है। शनि को काली चीजें प्रिय हैं। इसी वजह से शनि की पूजा में काले तिल भी चढ़ाए जाते हैं।

    चौथी चीज है नारियल

    नारियल के बिना किसी भी देवी-देवता की पूजा पूर्ण नहीं मानी जाती है। यदि आप शनि मंदिर जाते हैं तो शनि को नारियल अवश्य चढ़ाएं।

    ये चीजें चढ़ाने के साथ ही शनि के 10 नामों का जाप करें

    कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम:।

    सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:।।

    इस मंत्र में शनि के 10 नाम बताए गए हैं। ये नाम हैं कोणस्थ, पिंगल, बभ्रु, कृष्ण, रौद्रान्तक, यम, सौरि, शनैश्चर, मंद और पिप्पलाद। इन दस नामों से शनिदेव का ध्यान किया जाता है, जिससे शनि दोष दूर हो जाते हैं। शास्त्रों में पूजा के लिए सुबह और शाम का समय श्रेष्ठ बताया गया है। अगर आप चाहे तो इन नामों का जाप सुबह कर सकते हैं या शाम को सूर्योस्त के बाद कर सकते हैं।

  • 15 मई को शनि जयंती पर चढ़ाएं मंदिर में 4 चीजें, दूर हो सकती हैं समस्याएं, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    ऐसे करें मंत्र जाप

    घर के मंदिर में या किसी अन्य मंदिर में भगवान की पूजा करें। पूजा में शनिदेव का ध्यान करें। धूप-दीप जलाएं। फूल-प्रसाद चढ़ाएं। इसके बाद शनि के 10 नाम वाले मंत्र का जाप 108 बार करें। अगर मंत्र का उच्चारण ठीक से नहीं कर पा रहे हैं तो शनि के 10 नाम भी 108 बार बोल सकते हैं। शनिवार शनि का दिन है, इस कारण ये उपाय शनिवार से शुरू करें। इसके बाद रोज इन नामों का जाप करें। जाप के लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग कर सकते हैं।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×