Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Samudra Shastra- Know Human Nature And Future According To Forehead Lines.

माथे की 7 रेखाएं, जो बताती हैं हमारे नेचर और फ्यूचर के बारे में खास बातें

माथे की 7 रेखाओं को देखकर किसी भी व्यक्ति के भूत, भविष्य और वर्तमान के बारे में जाना जा सकता है।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - May 05, 2018, 05:00 PM IST

  • माथे की 7 रेखाएं, जो बताती हैं हमारे नेचर और फ्यूचर के बारे में खास बातें, religion hindi news, rashifal news

    रिलिजन डेस्क। रेखाएं सिर्फ मनुष्य के हाथों पर ही नहीं बल्कि अन्य मस्तक यानी माथे पर भी होती हैं। ये रेखाएं विभिन्न ग्रहों से प्रभावित होती हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार, माथे की 7 रेखाओं को देखकर किसी भी व्यक्ति के भूत, भविष्य और वर्तमान के बारे में जाना जा सकता है। जानिए कौन-सी हैं ये 7 रेखाएं-


    1. शनि रेखा
    यह रेखा माथे पर सबसे ऊपर होती है। यह रेखा ज्यादा लंबी नहीं होती, सिर्फ माथे के बीच में ही दिखाई देती है। जिसके मस्तक पर यह रेखा साफ दिखाई देती है, वह गंभीर स्वभाव का होता है। ऐसे लोग सफल जादूगर, ज्योतिर्विद या तांत्रिक हो सकते हैं।

    2. गुरु रेखा
    माथे पर शनि रेखा से नीचे गुरु रेखा का स्थान होता है। यह रेखा आमतौर पर शनि रेखा की तुलना में थोड़ी लंबी होती है। जिसके माथे पर यह रेखा लंबी एवं साफ दिखाई देती है, वह आत्मविश्वासी व अपनी बात का पक्का होता है। ऐसे लोग सरकारी नौकरी या शिक्षा के क्षेत्र में अपना नाम कमाते हैं।


    3. मंगल रेखा
    यह रेखा गुरु रेखा के नीचे होती है। जिसके माथे पर ये रेखा साफ और शुभ गुणों के साथ होती है, वो व्यक्ति साहसी, स्वाभिमानी, वीर, धर्मालु, दूरदृष्टि रखने वाला, समझदार एवं रचनात्मक प्रवृत्ति का होता है। ऐसे लोग किसी प्रशासनिक पद पर, सेना या पुलिस के अधिकारी अथवा राजदूत हो सकते हैं।


    4. बुध रेखा
    इस रेखा का स्थान लगभग माथे के बीच में होता है। यह रेखा लंबी होती है और कभी-कभी तो व्यक्ति की दोनों कनपटियों के किनारों को स्पर्श करती हुई दिखाई देती है। यह रेखा शुभ गुणों से युक्त हो तो ऐसा व्यक्ति तेज याददाश्त वाला, कलात्मक कामों में रुचि लेने वाला, सही-गलत की सोच रखने वाला होता है।

    5. शुक्र रेखा
    यह बुध रेखा के ठीक नीचे केवल मध्य भाग में होती है। यह रेखा छोटी होती है। यह रेखा साफ दिखाई दे तो ऐसा व्यक्ति स्फूर्ति, आशा व उत्साह से भरा रहता है। ऐसे लोग उच्च जीवन शक्ति से युक्त, घूमने-फिरने वाले, सौंदर्य प्रेमी एवं जरूरी मुद्दों पर गंभीर होते हैं।

    6. सूर्य रेखा
    इस रेखा का स्थान मनुष्य की दाईं आंख की भौंह के ऊपर होता है। यह रेखा अधिक लंबी नहीं होती, सिर्फ आंख के ऊपर सीमित होती है। यह रेखा स्पष्ट दिखाई दे तो ऐसे व्यक्ति में अद्भुत सूझ-बूझ होती है। ऐसे लोग अनुशासन में रहना पसंद करते हैं। ये अपने सिद्धांतों तथा व्यवहार से लोगों को बहुत जल्दी प्रभावित कर लेते हैं।


    7. चंद्र रेखा
    यह रेखा बाईं आंख की भौंह के ऊपर होती है। यह रेखा सरल, सीधी व स्पष्ट हो तो ऐसा व्यक्ति कलाप्रेमी, एकांतप्रिय, विकसित बुद्धि वाला तथा कल्पनाशील होता है। इनकी रुचि चित्रकला, गायन, संगीत आदि क्षेत्रों में होती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×