Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm Granth » Religious Texts, Interesting Things Related To Texts, Shrimaddevi Bhagwat,

तुलसी के पत्ते, कपूर, मोती, किताबें, शंख, चंदन और हीरा, इन्हें कभी भी जमीन पर नहीं रखना चाहिए

पूजा से जुड़ी कुछ चीजों को सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए। ऐसा करने से इसके दुष्परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 12, 2018, 01:37 PM IST

तुलसी के पत्ते, कपूर, मोती, किताबें, शंख, चंदन और हीरा, इन्हें कभी भी जमीन पर नहीं रखना चाहिए

रिलिजन डेस्क।हिंदू धर्म में बहुत सी चीजों को सीधे जमीन पर (बिना आसन के) रखने की मनाही है जैसे- तुलसीदल, चंदन, शालिग्राम शिला आदि। ऐसी मान्यता है कि ये चीजें बहुत ही पवित्र हैं। इन्हें जमीन पर रखना अशुभ माना जाता है। श्रीमद्देवीभागवत के नवम स्कंद के अनुसार, आज हम आपको कुछ ऐसी ही चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए।

इन 20 को सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए...
1. मोती, 2. सीप, 3. शालिग्राम शिला, 4. शिवलिंग, 5. शंख, 6. दीप, 7. यंत्र, 8. माणिक्य, 9. हीरा, 10. यज्ञोपवित, 11. पुष्प, 12. पुस्तक, 13. तुलसीदल, 14. जपमाला, 15. फूलों की माला, 16. कपूर, 17. सोना, 18. गोरोचन, 19. चंदन और 20. शालिग्राम का जल।


क्यों इन्हें जमीन पर नहीं रखना चाहिए-
1. शालिग्राम शिला, शिवलिंग, शालिग्राम का जल। ये सभी पूजनीय हैं। इसलिए इनमें से किसी को भी सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए। ऐसा करने से इनका अपमान होता है।

2. शंख, दीप, यंत्र, फूल, तुलसीदल, जपमाला, कपूर, चंदन और पुष्पमाला। इन सभी का उपयोग पूजा में या अन्य शुभ कामों में किया जाता है। इसलिए इन्हें सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए।

3. मोती, हीरा, माणिक्य और सोना। इनका संबंध किसी न किसी ग्रह से है। ग्रहों के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए लोग इन्हें अपनी उंगलियों में पहनते हैं। इसलिए इन्हें सीधे जमीन पर रखना इनका अपमान होता है।

4. सीप समुद्र से निकलने से के कारण देवी लक्ष्मी से संबंधित है। इसलिए इसे भी सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए।

5. यज्ञोपवित ब्राह्मण से संबंधित है। इसलिए इसे भी जमीन पर नहीं रखना चाहिए।

6. पुस्तक से ज्ञान मिलता है, वहीं गोरोचन गाय से प्राप्त होता है। इसलिए ये भी पूजनीय हैं। इन्हें भी सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×