Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » माउंट आबू, Mount Abu, Unknown Facts About Mount Abu, Best Destination For Summer

ये बातें जानेंगे तो राजस्थान की इस जगह आप भी जाना चाहेंगे गर्मी की छुट्टियां मनाने

गर्मी में राजस्थान का माउंट आबू पर्यटकों की पहली पसंद है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 08, 2018, 05:33 PM IST

  • ये बातें जानेंगे तो राजस्थान की इस जगह आप भी जाना चाहेंगे गर्मी की छुट्टियां मनाने, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क.गर्मी के दिनों में राजस्थान का तापमान काफी अधिक रहता है। अगर आप गर्मी की छुट्टियां मनाने राजस्थान में ही कहीं जाना चाहते हैं तो आपके लिए बेस्ट डेस्टिनेशन है माउंट आबू। माउंट आबू राजस्थान की एक मात्र ऐसी जगह है, जहां गर्मी के दिनों में भी काफी पर्यटक आते हैं। गर्मी में भी यहां का तापमान काफी कम रहता है, इस कारण लोग यहां समर वेकेशन मनाने पहुंचते हैं। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई करीब 1200 मीटर है और माउंट आबू राजस्थान का एक मात्र पहाड़ी शहर है। यह अरावली पर्वत का सर्वोच्च शिखर, जैन धर्म का प्रमुख तीर्थ स्थल भी है। यहां जानिए माउंट आबू पर्वत से जुड़ी खास बातें...

    1.आबू पर्वत पर कई ऐतिहासिक स्मारक हैं, तीर्थ-मंदिर हैं, कला प्रेमियों के लिए शिल्प, चित्र और स्थापत्य कलाओं की कई कृतियां हैं। यहां की गुफा में एक पदचिह्न है, जिसे लोग भृगु ऋषि का पदचिह्न मानते हैं। पर्वत के बीच में संगमरमर के दो विशाल जैन मंदिर हैं।

    2.राजस्थान के सिरोही जिले में अरावली की पहाड़ियों की सबसे ऊंची चोटी पर माउंट आबू बसा हुआ है। यहां की भौगोलिक स्थिति और वातावरण राजस्थान के अन्य शहरों से एकदम अलग है। यह शहर राजस्थान के अन्य जगहों की तरह गर्म नहीं है।

    3.माउंट आबू हिन्दू और जैन धर्म का प्रमुख तीर्थ स्थल है। माउंट आबू पहले चौहान साम्राज्य का हिस्सा था। बाद में सिरोही के महाराजा ने माउंट आबू को राजपूताना मुख्यालय के लिए अंग्रेजों को पट्टे पर दे दिया था। इसके बाद ब्रिटिश शासन के दौरान माउंट आबू गर्मियों में अंग्रेजों का पसंदीदा स्थान बना गया था।

    क्या-क्या देखें

    माउंट आबू में सूर्यास्त देखना बहुत रोमांचित करता है। यहां का दिलवाड़ा मंदिर प्रमुख आकर्षण है। माउंट आबू से 15 किलोमीटर दूर गुरु शिखर पर स्थित इन मंदिरों का निर्माण ग्यारहवीं और तेरहवीं शताब्दी के बीच हुआ था। यह शानदार मंदिर जैन धर्म के र्तीथंकरों को समर्पित हैं। दिलवाड़ा के मंदिर और मूर्तियां भारतीय स्थापत्य कला का श्रेष्ठ उदाहरण है। दिलवाड़ा के मंदिरों से 8 किलोमीटर उत्तर-पूर्व में अचलगढ़ का किला है। इसके अतिरिक्त माउंट आबू में नक्की झील, गोमुख मंदिर, माउंट आबू वन्यजीव अभयारण्य आदि भी दर्शनीय स्थल हैं।

    कैसे पहुंचे माउंट आबू

    माउंट आबू से निकटतम हवाई अड्डा उदयपुर है जो कि यहां से करीब 185 किलोमीटर दूर है। उदयपुर से माउंट आबू पहुंचने के लिए बस या प्राइवेट कार की सेवाएं ली जा सकती हैं।

    यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन आबू रोड करीब 28 किलोमीटर दूर है। ये स्टेशन अहमदाबाद, दिल्ली, जयपुर और जोधपुर से जुड़ा हुआ है। माउंट आबू देश के सभी बड़ों शहरों से सड़क मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

    ये भी पढ़ें-

    इन 2 राशियों पर मेहरबान रहते हैं शनिदेव, जानिए 5-5 खास बातें

    राशिफल- 18 अप्रैल से शनि होगा वक्री, नाम अक्षर से जानें किन राशियों का होगा भाग्योदय

  • ये बातें जानेंगे तो राजस्थान की इस जगह आप भी जाना चाहेंगे गर्मी की छुट्टियां मनाने, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें
  • ये बातें जानेंगे तो राजस्थान की इस जगह आप भी जाना चाहेंगे गर्मी की छुट्टियां मनाने, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×