Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Measures Of Bhairav, Measures Of Astrology, How To Please Bhairav

हर रविवार करें भगवान भैरव की पूजा और बोलें 1 मंत्र, मिल सकता है हर सुख

भैरव महादेव का रौद्र रूप हैं। इनकी पूजा से सभी तरह की समस्याओं का समाधान हो सकता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 02, 2018, 07:51 PM IST

    • रिलिजन डेस्क। धर्म ग्रंथों में भगवान शिव के अनेक अवतार बताए गए हैं। भैरव भी उन्हीं में से एक है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, भैरव महादेव का रौद्र रूप हैं। इनकी पूजा से सभी तरह की समस्याओं का समाधान हो सकता है। आज हम आपको भैरव को प्रसन्न करने के कुछ उपाय बता रहे हैं, इन्हें करने से आपकी हर परेशानी दूर हो सकती है। ये उपाय इस प्रकार हैं...

      1. हर रविवार की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद कुश (एक प्रकार की घास) के आसन पर बैठ जाएं। सामने भगवान कालभैरव की तस्वीर स्थापित करें व पंचोपचार से विधिवत पूजा करें। इसके बाद रूद्राक्ष की माला से नीचे लिखे मंत्र की कम से कम पांच माला जाप करें तथा भैरव महाराज से सुख-संपत्ति के लिए प्रार्थना करें।

      मंत्र- 'ऊं हं षं नं गं कं सं खं महाकाल भैरवाय नम:'

      2. रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद भैरवजी के मंदिर जाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं। रोज ये उपाय करने से आपकी हर समस्या दूर हो सकती है।

      3. हर महीने की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को भैरव मंदिर में इमरती और मदिरा का भोग लगाएं।

      4. हर शनिवार काले कुत्ते को इमरती खिलाएं और कच्चा दूध पिलाएं।

      5. कोई काम लंबे समय से रुका है तो रोज सुबह बटुक भैरव स्तोत्र का पाठ करें।

      6. रोज भैरव मंदिर की आठ परिक्रमा करने से पापों का नाश होता है।

      7. शनिवार की रात 12 बजे भगवान कालभैरव को दही में गुड़ मिलाकर भोग लगाएं।

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    Trending

    Top
    ×