Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Measures Of Amawasya, Measures Of Pitr Dosh, Measures Of Astrology, अमावस्या के उपाय, पितृ दोष के उपाय, ज्योतिष के उपाय

13 जून को अधिक मास की अमावस्या, 7 उपाय दूर कर सकते हैं पितृ दोष

वैसे तो अमावस्या हर महीने आती है, लेकिन अधिक मास की अमावस्या 3 साल में एक बार आती है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 11, 2018, 08:08 PM IST

    • रिलिजन डेस्क।इस बार 13 जून, बुधवार को ज्येष्ठ के अधिक मास की अमावस्या है। वैसे तो अमावस्या हर महीने आती है, लेकिन अधिक मास की अमावस्या 3 साल में एक बार आती है। इसलिए इस अमावस्या का विशेष महत्व है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, अमावस्या तिथि पितरों की मानी गई है। इसलिए इस दिन पितरों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध, तर्पण करने का विधान है। इसलिए इस दिन कुछ खास उपाय करने से पितृ दोष में कमी आ सकती है। जानिए इस दिन कौन-से उपाय करें…

      1. अधिक मास की अमावस्या पर किसी पवित्र नदी में काले तिल डालकर तर्पण करें। इससे भी पितृगण प्रसन्न होते हैं।

      2. पीपल में पितरों का वास माना गया है। अधिक मास की अमावस्या तिथि पर पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और गाय के शुद्ध घी का दीपक लगाएं।

      3. अधिक मास की अमावस्या पर किसी ब्राह्मण को भोजन के लिए घर बुलाएं या भोजन सामग्री जिसमें आटा, फल, गुड़ आदि हो, दान करें।

      4. अधिक मास की अमावस्या पर अपने पितरों को याद कर गाय को हरा चारा खिला दें। इससे भी पितृ प्रसन्न व तृप्त हो जाते हैं।

      5. इस अमावस्या पर चावल के आटे से 5 पिंड बनाएं व इसे लाल कपड़े में लपेटकर नदी में प्रवाहित कर दें।

      6. अमावस्या पर गाय के गोबर से बने कंडे को जलाकर उस पर घी-गुड़ की धूप दें और पितृ देवताभ्यो अर्पणमस्तु बोलें।

      7. इस अमावस्या पर कच्चा दूध, जौ, तिल व चावल मिलाकर नदी में प्रवाहित करें। ये उपाय सूर्योदय के समय करें तो अच्छा रहेगा।

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Measures Of Amawasya, Measures Of Pitr Dosh, Measures Of Astrology, अमावस्या के उपाय, पितृ दोष के उपाय, ज्योतिष के उपाय
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Trending

    Top
    ×