Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Measures For Slove Money In Gupta Navaratri

धन लाभ, जल्दी शादी और मनपसंद वर के लिए गुप्त नवरात्र में करें ये उपाय, मनोकामना हो सकती है पूरी

आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्र का आरंभ 14, जुलाई से हो चुका है, जो 21 जुलाई को समाप्त होगी।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 17, 2018, 02:38 PM IST

धन लाभ, जल्दी शादी और मनपसंद वर के लिए गुप्त नवरात्र में करें ये उपाय, मनोकामना हो सकती है पूरी, religion hindi news, rashifal news

रिलिजन डेस्क.आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्र का आरंभ 14, जुलाई से हो चुका है, जो 21 जुलाई को समाप्त होगी। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, गुप्त नवरात्र में किए गए कुछ विशेष उपायों से धन, नौकरी, स्वास्थ्य, संतान, विवाह, प्रमोशन आदि कई मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। अगर आपकी कोई इच्छा भी अधूरी है तो आगे बताए गए उपायों से वह पूरी हो सकती है। ये उपाय इस प्रकार हैं-
धन लाभ के लिए उपाय

- गुप्त नवरात्र के दौरान किसी भी दिन स्नान आदि करने के बाद उत्तर दिशा की ओर मुख करके पीले आसन पर बैठ जाएं।

- अपने सामने तेल के 9 दीपक जला लें। ये दीपक साधनाकाल तक जलते रहने चाहिए।

- दीपक के सामने लाल चावल (चावल को रंग लें) की एक ढेरी बनाएं फिर उस पर एक श्रीयंत्र रखकर उसका कुमकुम, फूल, धूप, तथा दीप से पूजन करें।
- उसके बाद एक प्लेट पर स्वस्तिक बनाकर उसे अपने सामने रखकर उसका पूजन करें।

- श्रीयंत्र को अपने पूजा स्थल पर स्थापित कर लें और शेष सामग्री को नदी में प्रवाहित कर दें।

- इस प्रयोग से आपको अचानक धन लाभ होने के योग बन सकते हैं।
शीघ्र विवाह के लिए उपाय
- नवरात्र में शिव-पार्वती का एक चित्र अपने पूजास्थल में रखें और उनकी पूजा करने के बाद नीचे लिखे मंत्र का 3, 5 अथवा 10 माला जाप करें।

- जाप के बाद भगवान शिव से विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने की प्रार्थना करें-
मंत्र- ऊं शं शंकराय सकल-जन्मार्जित-पाप-विध्वंसनाय,
पुरुषार्थ-चतुष्टय-लाभाय च पतिं मे देहि कुरु कुरु स्वाहा।।
मनपसंद वर के लिए उपाय
- नवरात्र में अपने पास स्थित शिव मंदिर में जाएं। वहां भगवान शिव एवं मां पार्वती पर जल एवं दूध चढ़ाएं और पंचोपचार (चंदन, पुष्प, धूप, दीप एवं नैवेद्य) से उनका पूजन करें।

- अब मौली (पूजा में उपयोग किया जाने वाला लाल धागा) से उन दोनों के मध्य गठबंधन करें। अब वहां बैठकर लाल चंदन की माला से इस मंत्र का जाप 108 बार करें-
हे गौरी शंकरार्धांगी। यथा त्वं शंकर प्रिया।
तथा मां कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम्।।
इसके बाद तीन महीने तक रोज इसी मंत्र का जाप शिव मंदिर में अथवा अपने घर के पूजाकक्ष में मां पार्वती के सामने 108 बार करें। घर पर भी आपको पंचोपचार पूजा करनी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×