Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Measures For Negative Energy

घर में है नेगेटिव एनर्जी है तो रोज पूजा करते समय बजाएं शंख, इससे दूर हो सकती हैं परेशानियां

कुछ आसान उपाय कर नेगेटिव एनर्जी को घर से बाहर किया जा सकता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 11, 2018, 02:08 PM IST

घर में है नेगेटिव एनर्जी है तो रोज पूजा करते समय बजाएं शंख, इससे दूर हो सकती हैं परेशानियां, religion hindi news, rashifal news

रिलिजन डेस्क.कई बार घर में मौजूद नेगेटिव एनर्जी भी हमारी असफलता और परेशानियों का कारण हो सकती हैं। ऐसे में कितनी ही कोशिश क्यों न की जाए, लेकिन मनचाहे फल पाना मुश्किल होता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार,अगर आपके साथ भी यही समस्या है तो ज्योतिष के कुछ आसान उपाय जैसे 'पूजा करते समय शंख बजाना' आपके काम आ सकते हैं। इसके अलावा भी इसके लिए कई उपाय बताए गए हैं।
1. शाम को घर में पूजा करते समय शंख जरूर बजाएं और शंख से पानी भी छिड़कें। रोज घर में शंख का पानी छिड़कने से नेगेटिविटी खत्म होती है और दैवीय शक्तियों का वास होता है।
2. रोज सुबह एक कटोरी पानी को सूर्य की रोशनी में रख दें। फिर शाम के समय उस पानी को आम या अशोक के पत्तों से पूरे घर में छिड़क दें। ऐसा करने से घर में किसी भी तरह की नेगेटिव एनर्जी और दुर्भाग्य टिक नहीं पाते।
3. अगर घर के किसी भी सदस्य को रात में बुरे सपने सताते हैं तो सोने से पहले कपूर को घी में डाल कर जलाएं। ऐसा करने से भी नेगेटिव एनर्जी खत्म होती है और घर के लोग भी आराम से सो सकेंगे।
4. रात को सोते समय घर के हर कोने में थोड़ा-थोड़ा सेंधा नमक कांच की कटोरी में भरकर रख दें। सुबह उस नमक को इकट्ठा कर नदी में बहा दें। ऐसा करने से नेगेटिव एनर्जी का असर कम होने लगता है।

शंख की उत्पत्ति
- ऐसा माना जाता है कि शंख की उत्पत्ति समुद्र मंथन के दौरान हुई थी। समुद्र मंथन में जिन 14 रत्नों की उत्पत्ति हुई थी उनमें से शंख भी एक था।
- इसे भगवान विष्णु ने अपने कर कमलों में धारण किया है।इसी कारण शंख को विजया, समृद्धि, यश और लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है।
- ऐसा माना जाता है कि किसी भी काम को करने से पहले शंख बजाना शुभ माना जाता है ।
लक्ष्मी देवी का भाई है शंख
- विष्णु पुराण के अनुसार लक्ष्मी माता समुद्रराज की पुत्री हैं और शंख उनका भाई है।
- इसलिए ऐसा माना जाता है की जहां शंख होता है लक्ष्मी माता का वास वहीं होता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×