Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Lord Krishna's Worship, Sri Krishna's Remedy, Lord Krishna

अधिक मास: श्रीकृष्ण की पूजा में शामिल करें 10 चीजें, हर संकट हो सकता है दूर

अधिक मास में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करते समय अगर इन 10 चीजों को शामिल किया जाए तो आपकी हर इच्छा पूरी हो सकती है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 02, 2018, 12:24 PM IST

  • अधिक मास: श्रीकृष्ण की पूजा में शामिल करें 10 चीजें, हर संकट हो सकता है दूर, religion hindi news, rashifal news

    रिलिजन डेस्क।ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण की पूजा में 10 चीजों का होना बहुत जरूरी है। अधिक मास में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करते समय अगर इन 10 चीजों को शामिल किया जाए तो आपकी हर इच्छा पूरी हो सकती है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, 13 जून, बुधवार को अधिक मास समाप्त हो जाएगा। इसलिए इसके पहले ही इन 10 चीजों से भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करें...


    1. आसन
    श्रीकृष्ण की मूर्ति स्थापना सुंदर आसन पर करनी चाहिए। आसन लाल, पीले या केसरिया रंग का व बेलबूटों से सजा होना चाहिए।


    2. पाद्य
    जिस बर्तन में भगवान के चरणों को धोया जाता है, उसे पाद्य कहते है। इसमें शुद्ध पानी भरकर, फूलों की पंखुड़ियां डालना चाहिए।

    3. पंचामृत
    यह शहद, घी, दही, दूध और शक्कर- इन पांचों को मिलाकर तैयार करना चाहिए। फिर शुद्ध पात्र में उसका भोग भगवान को लगाएं।

    4. अनुलेपन
    पूजा में उपयोग में आने वाले दूर्वा, कुंकुम, चावल, अबीर, अगरु, सुगंधित फूल और शुद्ध जल को अनुलेपन कहा जाता है।

    हमारे विश्वसनीय और अनुभवी ज्योतिषाचार्यों से अपनी समस्याओं का समाधान पाने के लिए यहां क्लिक करें।

    5. आचमनीय
    आचमन (शुद्धिकरण) के लिए प्रयोग में आने वाला जल आचमनीय कहलाता है। इसमें सुगंधित द्रव्य व फूल डालना चाहिए।

    6. स्नानीय
    श्रीकृष्ण के स्नान के लिए प्रयोग में आने वाले द्रव्यों (पानी, इत्र व अन्य सुगंधित पदार्थ) को स्नानीय कहा जाता है।

    7. फूल
    भगवान श्रीकृष्ण की पूजा में सुगंधित और ताजे फूलों का बहुत महत्व माना जाता है। इसलिए शुद्ध और ताजे फूलों का ही प्रयोग करना चाहिए।

    8. भोग
    जन्माष्टमी की पूजा के लिए बनाए जा रहें भोग में मिश्री, ताजी मिठाइयां, ताजे फल, लड्डू, खीर, तुलसी के पत्ते शामिल करना चाहिए।

    9. धूप
    विभिन्न पेड़ों के अच्छे गोंद तथा अन्य सुगंधित पदाथों से बनी धूप भगवान कृष्ण को बहुत प्रिय मानी जाती है।

    10. दीप
    चांदी, तांबे या मिट्टी के बने दीए में गाय का शुद्ध घी डालकर भगवान की आरती विधि-विधान पूर्वक उतारनी चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×