Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » शनि के संकेत, Kundli Reading, Astro Tips In Hindi, Shani Chandra In Kundli

जिन लोगों के साथ होते हैं ये अशुभ संकेत, वे कभी अमीर नहीं बन पाते

कुंडली के इन योगों की वजह से व्यक्ति को धन लाभ नहीं मिल पाता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 15, 2018, 05:50 PM IST

  • जिन लोगों के साथ होते हैं ये अशुभ संकेत, वे कभी अमीर नहीं बन पाते, religion hindi news, rashifal news

    यूटिलिटी डेस्क.अगर किसी की कुंडली में राजयोग है, लेकिन उसके साथ ही विषयोग भी है तो व्यक्ति कभी अमीर नहीं बन पाता है। विष योग की वजह से व्यक्ति लक्ष्य के अंतिम चरण पर पहुंचकर असफल हो जाता है। ये योग शनि और चंद्र के कारण बनता है। यहां जानिए कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार विष योग से जुड़ी खास बातें...

    1.कुंडली में जब चंद्र और शनि का योग बनता है तो उसे विष योग कहते हैं। ज्योतिष में चंद्र मन का और शनि उदासी का कारक है। इन दोनों का योग व्यक्ति को मानसिक तनाव देता है।

    2.चंद्र को पानी माना गया है तो शनि को जहर। ऐसे में ये योग पानी में जहर के समान माना जाता है।

    3.अगर किसी व्यक्ति के पास बहुत पैसा है और उसकी कुंडली में विष योग है तो व्यक्ति उस धन का उपयोग नहीं कर पाता है।

    4.विष योग के साथ ही कुंडली में कोई अन्य शुभ योग न हो तो व्यक्ति के पास अपार धन होने पर भी वह परेशानियों से घिरा रहता है और धीरे-धीरे गरीब हो जाता है।

    5. यदि कुंडली के पहले भाव में चंद्र-शनि का योग हो तो व्यक्ति को किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं मिल पाती है।

    6. दूसरे भाव में चंद्र-शनि का योग होने से कभी-कभी व्यक्ति को शुभ फल भी मिल सकते हैं।

    7.तीसरे भाव में ये योग होने से घर में चोरी होने के योग बन सकते हैं।

    8. कुंडली के चतुर्थ भाव में ये योग शुभ फल दे सकता है।

    9.पंचम भाव में विष योग होना संतान के लिए शुभ नहीं होता है।

    10.षष्ठम भाव में चंद्र-शनि एक साथ होते हैं तो किसी रिश्तेदार की वजह से धन हानि हो सकती है।

    11.सप्तम भाव में ये योग हो तो व्यक्ति को आंखों से संबंधित कोई बीमारी हो सकती है।

    12.अष्टम भाव में विष योग होने पर व्यक्ति को सांप से सावधान रहना चाहिए।

    13.नवम भाव में ये योग होने से व्यक्ति को शुभ-अशुभ दोनों तरह के फल मिलते हैं।

    14.दशम या एकादश भाव में विष योग अशुभ फल देता है। अगर व्यक्ति धनी घर में पैदा होता है और उसकी कुंडली के दशम या एकादश भाव में विष योग है तो उसे भी पैसों की कमी का सामना करना पड़ता है।

    15.द्वादश भाव में विष योग होने पर व्यक्ति धन के मामले में लालची नहीं होता है।

    ये भी पढ़ें-

    पत्नी रोज करेगी ये एक काम तो पति को मिल सकता है भाग्य का साथ, दूर हो सकती है गरीबी

    पति-पत्नी जब भी हों एकांत में तो ये बातें ध्यान रखें, हमेशा सुखी रहेंगे

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×