Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Effects Of Angarak Yog, Mangal And Ketu In Kundli, Astro Tips About Money

जिसके साथ होते हैं 10 संकेत, वह खुद की मेहनत से कमाता है नाम और पैसा

ज्योतिष : 2 ग्रह मिलकर किसी को भी करोड़पति बना सकते हैं

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 05, 2018, 05:23 PM IST

  • जिसके साथ होते हैं 10 संकेत, वह खुद की मेहनत से कमाता है नाम और पैसा, religion hindi news, rashifal news

    रिलिजन डेस्क।अगर किसी कुंडली में राहु या केतु मंगल के साथ किसी भी भाव में स्थित हो तो अंगारक योग बनता है। यहां जानिए कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार इस योग का व्यक्ति के जीवन पर कैसा असर होता है...

    # अंगारक योग का असर

    >यदि राहु और मंगल मिल कर अंगारक योग बनाते हैं तो व्यक्ति अपनी मेहनत से नाम और पैसा कमाता है।

    > कुंडली के पंचम भाव में ये योग हो तो व्यक्ति अपनी मेहनत से धन-संपत्ति बनाता है।

    > मंगल के साथ केतु 11वें भाव में हो तो व्यक्ति करोड़पति भी बन सकता है।

    > कुंडली के दूसरे भाव में ये योग होने से व्यक्ति धनवान बनता है।

    > कुंडली के 8वें,12वें भाव में ये योग बुरा फल देता है। ऐसे लोगों के जीवन में कई उतार चढ़ाव आते हैं। यह योग अच्छा और बुरा दोनों तरह का फल देने वाला है।

    > यदि कुंडली में अंगारक योग है तो व्यक्ति का स्वभाव आक्रामक, हिंसक तथा नकारात्मक हो जाता है।

    > इस योग के प्रभाव में आने वाले व्यक्ति के अपने भाइयों, मित्रों तथा अन्य रिश्तेदारों के साथ संबंध सामान्य नहीं रह पाते हैं।

    > कुंडली में अंगारक योग बन जाने पर व्यक्ति का मन गलत कामों की ओर भी लग सकता है।

    > कुंडली के पहले भाव में राहु-मंगल का अंगारक योग होने से पेट से संबंधित रोग होने के योग रहते हैं।

    > इस योग से व्यक्ति गुस्से वाला होता है, लेकिन उसकी बुद्धि बहुत तेज होती है। ये लोग मार्केटिंग बहुत अच्छी तरह कर सकते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×