Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm » Akshaya Tritiya 2018: 18 अप्रैल बुधवार को अक्षय तृतीया पर 141 साल बाद बन रहा है दुर्लभ संयोग

18 अप्रैल बुधवार को अक्षय तृतीया पर 141 साल बाद बन रहा है दुर्लभ संयोग, जानिए शुभ मुहूर्त

इस साल अक्षय तृतीया पर आयुष्मान और सिद्धि योग का दुर्लभ संयोग बन रहा है। इससे पहले एेसा संयोग 16 अप्रैल 1877 को बना था।

यूटिलिटी डेस्क | Last Modified - Apr 16, 2018, 02:11 PM IST

  • 18 अप्रैल बुधवार को अक्षय तृतीया पर 141 साल बाद बन रहा है दुर्लभ संयोग, जानिए शुभ मुहूर्त
    इस साल अक्षय तृतीया पर आयुष्मान और सिद्धि योग का दुर्लभ संयोग बन रहा है। इससे पहले एेसा संयोग 16 अप्रैल 1877 को बना था। इससे पहले 2007 में आयुष्मान योग था लेकिन सिद्धि योग नहीं था। इस तरह 1996, 1942, 1904 और 1896 में भी अक्षय तृतीया पर आयुष्मान योग बना था लेकिन सिद्धि योग नहीं था। इस तरह 18 अप्रैल बुधवार को दुर्लभ संयोग में पड़ रही अक्षय तृतीया बहुत खास हो गई है।

    अक्षय तृतीया का महत्व -
    हिन्दू धर्म में अक्षय तृतीया को बहुत खास माना गया है। वैशाख महीने की शुक्लपक्ष की तृतीया को अक्षय तृतीया कहा जाता है। इस दिन सूर्य-चंद्रमा दोनों अपनी उच्च राशि में होते हैं। जिससे किए गए अच्छे कामों का पूरा फल मिलता है। इस दिन किए गए दान और पुण्य कर्मों से मिलने वाले अखंड फल स्थाई होते हैं। इसलिए इसे अक्षय तृतीया कहा गया है। इसके अलावा तृतीया को जया तिथि भी कहा जाता है। इस तिथि में किए गए कामों में पूरी तरह जीत यानी सफलता मिलती है। अक्षय तृतीया को ज्योतिष में स्वयं सिद्ध मुहूर्त भी कहा गया है। इस दिन किसी भी तरह का शुभ काम किया जा सकता है। अक्षय तृतीया पर की गई खरीददारी से लक्ष्मी जी प्रसन्न होती हैं।
    अक्षय तृतीया पर सर्वाथसिद्धि योग में खरीददारी और शुभ कार्यों के मुहूर्त -
    सुबह 06:10 से 08:55 तक
    सुबह 10:55 से दोपहर 12:15 तक
    दोपहर 03:40 से शाम 06:35 तक
    रात 08:12 से 12:10 तक

    इस दिन क्या करें -
    - इस दिन नए कपड़े और ज्वेलरी पहनना शुभ माना जाता है। नया काम शुरू करने के लिए ये दिन बहुत खास माना गया है।
    - अक्षय तृतीया पर होने वाली पूजा-पाठ, जप, तप, हवन, आैर दान का फल कई गुना बढ़ जाता है।
    - अक्षय तृतीया पर मांगलिक कार्यों के लिए खरीददारी, कपड़े, ज्वेलरी, प्रॉपर्टी, वाहन आदी चीजों की खरीददारी करना शुभ होता है।
    - इस दिन सुबह जल्दी उठकर पवित्र नदियों में स्नान करने से हर तरह के पाप खत्म हो जाते हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×