Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » अक्षय तृतीया के उपाय, Akshay Tratiya Ke Upay, Jyotish Ke Upay In Hindi

अक्षय तृतीया 2018- आज करें गन्ने के रस के ये 2 उपाय, बढ़ेगा पुण्य और दूर हो सकती हैं परेशानियां

अक्षय तृतीया पर यहां बताई जा रही चीजों का दान करने से पुण्य बढ़ता है और परेशानियां दूर हो सकती हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 18, 2018, 11:00 AM IST

  • अक्षय तृतीया 2018- आज करें गन्ने के रस के ये 2 उपाय, बढ़ेगा पुण्य और दूर हो सकती हैं परेशानियां, religion hindi news, rashifal news

    रिलीजन डेस्क. बुधवार, 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया है और इस दिन देवी लक्ष्मी के लिए विशेष उपाय किए जाते हैं। शास्त्रों में इस तिथि का काफी अधिक महत्व बताया गया है। मान्यता है कि अक्षय तृतीया पर दान-पुण्य करने से अक्षय पुण्य मिलता है और सभी परेशानियों से मुक्ति मिल सकती है। प्राचीन समय में इस तिथि से सतयुग और त्रेतायुग का आरंभ माना जाता है। इसी दिन श्री बद्रीनाथ धाम के पट खुलते हैं। नर-नारायण, हयग्रीव और परशुरामजी का अवतार भी अक्षय तृतीया पर ही हुआ था। इस दिन शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाना चाहिए और किसी गरीब को गन्ने का रस पिलाना चाहिए। यहां जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार अक्षय तृतीया पर कौन-कौन सी चीजों का दान करना चाहिए...

    बिना मुहूर्त देखें कर सकते हैं कोई भी शुभ काम

    इस दिन आप बिना किसी ज्‍योतिषीय सलाह के किसी भी शुभ काम की शुरुआत कर सकते हैं। इस दिन पूजा-पाठ करने से ना केवल हमारे बल्कि हमारे पूर्वजों के पापों का भी असर खत्म हो जाता है।

    कर सकते हैं इन चीजों का दान

    - अक्षय तृतीया पर गर्मी के दिनों में आती है और इस समय गर्मी चरम पर होती है। इस कारण गरीब और असहाय लोगों को खाने-पीने की ऐसी चीजों का दान करना चाहिए, जिनसे गर्मी में राहत मिलती है। जैसे ठंडा पानी, दही, लस्सी, गन्ने का रस, अन्य फलों का रस, तरबूज आदि। आप चाहें तो कहीं प्याऊ लगवा सकते हैं या किसी प्याऊ में मटके का दान कर सकते हैं।

    - गर्मी में पहनने के सूती वस्त्रों का दान किया जा सकता है।

    - इस दिन जौ, गेहूं, चने, दही, चावल, खिचड़ी, दूध से बने हुए ठंडे पदार्थ का दान करना बहुत शुभ रहता है।

    ये उपाय भी कर सकते हैं

    - इस दिन किसी पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए।

    - पंखा, चावल, नमक, घी, चीनी, सब्जी, इमली, फल और वस्त्रों का दान करके ब्राह्मणों को भोजन कराएं और अपने सामर्थ्य के अनुसार दक्षिणा दें।

    - शिवलिंग पर ठंडा जल चढ़ाएं।

    - हनुमानजी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×