Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » Story Of Chudamani Devi Mandir

यहां चोरी करना माना जाता है बेहद शुभ, पूरी होती है मनचाही इच्छा

अनोखी मान्यता: इस मंदिर में चोरी करने से पूरी होती हैं मनोकामनाएं

जीवन मंत्र डेस्क | Last Modified - Nov 17, 2017, 05:00 PM IST

  • यहां चोरी करना माना जाता है बेहद शुभ, पूरी होती है मनचाही इच्छा, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    कहा जाता है कि चोरी करना पाप है, सभी धर्म-ग्रंथों में इस पापा से दूर रहने की सलाह दी जाती है। भारत अपने अनोखे रीति-रिवाजों और परंपराओं के लिए प्रसिद्ध है। देव भूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड में कई अनोखे मंदिर हैं। ऐसा ही एक मंदिर है सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी मंदिर। मान्यता है कि यहां चोरी करने पर हर शख्स की मनोकामना पूरी होती है। रुड़की के चुड़ियाला गांव में प्राचीन सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी मंदिर में पुत्र प्राप्ति की इच्छा रखने वाले पति-पत्नी माथा टेकने आते हैं।

    लोकड़ा चुराने की है परंपरा

    मान्यताओं के अनुसार, जिन्हें पुत्र की चाह होती है वह जोड़ा यदि मंदिर में आकर माता के चरणों से लोकड़ा (लकड़ी का गुड्डा) चोरी करके अपने साथ ले जाएं तो बेटा होता है। उसके बाद बेटे के साथ माता-पिता को यहां माथा टेकने आना होता है।
  • यहां चोरी करना माना जाता है बेहद शुभ, पूरी होती है मनचाही इच्छा, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    मन्नत पूरी होने पर चढ़ाए जाते हैं दो लोकड़े

    कहा जाता है कि पुत्र होने पर भंडारा कराने की मान्यता है। उसके साथ ही दंपती यहां से ले जाए हुए लोकड़े के साथ ही एक अन्य लोकड़ा भी अपने पुत्र के हाथों देवी के चरणों में चढ़वाते हैं। लोक कथाओं के अनुसार, इस मंदिर का निर्माण 1805 में लंढौरा रियासत के राजा ने करवाया था।

    ऐसे हुआ था मंदिर का निर्माण

    प्रचलित कथा है कि एक बार लंढौरा रियासत के राजा शिकार करने जंगल में आए हुए थे तभी घूमते-घूमते उन्हें माता की पिंडी के दर्शन हुए। राजा का कोई पुत्र नहीं था। इसलिए राजा ने उसी समय माता से पुत्र प्राप्ति की मन्नत मांगी। राजा की इच्छा पूरी होने पर उन्होंने इस मंदिर का निर्माण करवाया।

    देवी सती के 51 शक्तिपीठों में से एक

    कई कथाओं और ग्रंथों के अनुसार, चूड़ामणि देवी मंदिर देवी सती के 51 शक्तिपीठों में से एक है। यहां पर देवी का चूड़ा गिरा था। इसी वजह से यह मंदिर चूड़ामणि देवी के नाम से प्रसिद्ध है

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×