Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » Vitthal Rukmini Temple In Maharashtra, Vitthal Temple, Pandharpur

ये हैं भगवान श्रीकृष्ण और उनकी सबसे प्रिय पत्नी का खास मंदिर, देखें तस्वीरें

यहां राधा नहीं बल्कि रुक्मिणी के साथ पूजे जाते हैं श्रीकृष्ण, निकलती है खास यात्रा

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Jan 08, 2018, 05:00 PM IST

  • ये हैं भगवान श्रीकृष्ण और उनकी सबसे प्रिय पत्नी का खास मंदिर, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    मंदिर में स्थापित विट्ठल-रुक्मिणी की मूर्ति

    दुनियाभर में भगवान कृष्ण के कई मंदिर हैं। कहीं पर भगवान कृष्ण अपने बड़े भाई बलराम के साथ हैं तो कहीं पर देवी राधा के साथ। 16,108 पत्नियां होने के बाद भी भगवान कृष्ण को उनकी पत्नी के साथ बहुत ही कम मंदिर हैं, लेकिन महाराष्ट्र में पुणे से लगभग 200 कि.मी की दूरी पर एक गांव है, जहां श्रीकृष्ण को और किसी के साथ नहीं बल्कि उनकी पत्नी रुक्मिणी के साथ पूजा जाता है।

    यहां हैं काले रंग की सुदंर मूर्तियां

    महाराष्ट्र के पंढरपुर नाम के गांव में भगवान कृष्ण और उनकी पत्नी रुक्मिणी का विट्ठल रुक्मिणी मंदिर नाम का एक मंदिर है। इस मंदिर में भगवान कृष्ण और देवी रुक्मिणी के काले रंग की सुंदर मूर्तियां हैं। यह मंदिर भक्तों के लिए गहरी आस्था का केन्द्र बना हुआ है।

    चंद्रभागा नदी के तट पर है स्थित

    विट्ठल रुक्मिणी मंदिर पूर्व दिशा में भीमा नदी के तट पर है। भीमा नदी को यहां पर चंद्रभागा के नाम से जाना जाता है। आषाढ़, कार्तिक, चैत्र और माघ महीनों के दौरान नदी के किनारे मेला लगता है, जिसमें हजारों लोग आते हैं। उन मेलों में भजन-कीर्तन करके भगवान विट्ठल को प्रसन्न किया जाता है।

    मंदिर तक की जाती है दिंडी यात्रा

    कई भक्त अपने घरों से मंदिर तक के लिए पैदल यात्रा भी करते हैं। जिसे दिंडी यात्रा कहा जाता है। मान्यता है कि इस यात्रा को आषाढ़ी एकादशी याकार्तिकी एकादशी को मंदिर में खत्म करने का महत्व है। इसलिए भक्त इसी समय से कुछ दिन पहले यात्रा शुरू करते हैं, ताकि इस दिन यात्रा पूरी कर सकें।

    कैसे पहुंचें

    हवाई मार्ग- पंढरपुर से सबसे पास में पुणे का एयरपोर्ट है। पंढरपुर से पुणे एयरपोर्ट की दूरी लगभग 200 कि.मी. है। वहां तक हवाई मार्ग से आकर सड़क मार्ग से पंढरपुर के विट्ठल रुक्मिणी मंदिर पहुंच सकते हैं।

    रेल मार्ग- पंढरपुर से लगभग 52 कि.मी. की दूरी पर कुर्डुवादी का रेल्वे स्टेशन है। कुर्डुवादी से पंढरपुर के लिए आसानी से बस मिल जाती है।

    सड़क मार्ग- पंढरपुर से पुणे की दूरी लगभग 200 कि.मी और मुंबई की दूरी लगभग 370 कि.मी. है। वहां तक अन्य साधन से आकर सड़क मार्ग से विट्ठल रुक्मिणी मंदिर पहुंचा जा सकता है।

    आगे देखें मंदिर की कुछ तस्वीरें...

  • ये हैं भगवान श्रीकृष्ण और उनकी सबसे प्रिय पत्नी का खास मंदिर, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    चंद्रभागा नदी के तट पर बसा विट्ठल-रुक्मिणी मंदिर
  • ये हैं भगवान श्रीकृष्ण और उनकी सबसे प्रिय पत्नी का खास मंदिर, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    मंदिर में स्थापित भगवान विट्ठल की मूर्ति
  • ये हैं भगवान श्रीकृष्ण और उनकी सबसे प्रिय पत्नी का खास मंदिर, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    मंदिर में स्थापित देवी रुक्मिणी की मूर्ति
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Vitthal Rukmini Temple In Maharashtra, Vitthal Temple, Pandharpur
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×