Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » Hanuman Jayanti 2018 - हनुमान जयंती 2018: क्या यहीं हुआ था हनुमानजी का जन्म

हनुमान जयंती 2018: क्यों बंद हो गई ये गुफा, क्या यहीं हुआ था हनुमानजी का जन्म?

31 मार्च, शनिवार को हनुमान जयंती है। इस मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान हनुमान से जुड़ी एक खास जगह के बारे में।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 31, 2018, 11:15 AM IST

  • हनुमान जयंती 2018: क्यों बंद हो गई ये गुफा, क्या यहीं हुआ था हनुमानजी का जन्म?, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें
    चित्र: आंजनधाम स्थित गुफा

    यूटिलिटी डेस्क. 31 मार्च, शनिवार को हनुमान जयंती है। इस मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान हनुमान से जुड़ी एक खास जगह के बारे में। लोक मान्यता है कि इसी स्थान पर हनुमानजी का जन्म हुआ था। ये जगह है झारखंड के गुमला नामक जिले के आंजन गांव में। यहां एक गुफा को भगवान हनुमान का जन्म स्थल माना जाता है। कहा जाता है कि कलियुग में वह गुफा अपने आप बंद हो गई, जिसके पीछे भगवान हनुमान की माता अंजनी का गुस्सा माना जाता है।

    देवी अंजनी के नाम पर पड़ इस जगह का नाम आंजन
    हनुमानजी की माता अंजनी के नाम से ही इस गांव का नाम आंजन पड़ा। यह गांव गुमला जिला से लगभग 22 किमी की दूरी पर है। यहां पर एकमात्र ऐसा मंदिर है, जहां भगवान हनुमान की माता की गोद में बैठे दिखाई देते हैं।

    हनुमान जयंती 2018, हनुमानजी की कौन-सी तस्वीर घर में रखने से होता है क्या फायदा

    इसलिए कलियुग में बंद हो गए गुफा के दरवाजे
    स्थानीय मान्यताओं के अनुसार, हनुमानजी का जन्म गुमला जिले के आंजनधाम स्थित एक पहाड़ी की गुफा में हुआ था। जिस गुफा में भगवान हनुमान का जन्म हुआ था, उसका दरवाजा कलयुग में अपने आप बंद हो गया। गुफा के दरवाजे को भगवान हनुमान की माता अंजनी ने स्वयं बंद कर लिया क्योंकि स्थानीय लोगों द्वारा वहां दी गई बलि से वे नाराज थीं। आज भी यह गुफा आंजन धाम में मौजूद है।

    1953 में बनाया गया माता अंजनी और हनुमान का मंदिर
    आंजनधाम में एक छोटा सा मंदिर है, जिसकी स्थापना भगवान हनुमान के भक्तों ने 1953 में की थी। इस मंदिर में भगवान हनुमान और माता अंजना का सुंदर मूर्ति है। यहां भगवान हनुमान अपनी माता की गोद में बैठे दिखाई देते हैं।

    हनुमान जयंती 2018, हनुमानजी की पूजा में रखें ये सावधानियां, नहीं तो बुरा हो सकता है परिणाम

    यहां मौजूद सरोवर में किया था राम-लक्ष्मण में स्नान
    आंजन क्षेत्र से और भी कई पौराणिक गाथाएं जुड़ी हैं। इसी क्षेत्र में एक पंपापुर नाम का सरोवर है, जिसे लेकर मान्यता है कि इसी सरोवर में भगवान राम और लक्ष्मण ने स्नान किया था।

    इस स्थान की अन्य तस्वीरें देखने के लिए आगे की स्लाइ्डस पर क्लिक करें-

  • हनुमान जयंती 2018: क्यों बंद हो गई ये गुफा, क्या यहीं हुआ था हनुमानजी का जन्म?, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें
    चित्र: आंजन क्षेत्र में बना भगवान हनुमान और उनकी माता का मंदिर
  • हनुमान जयंती 2018: क्यों बंद हो गई ये गुफा, क्या यहीं हुआ था हनुमानजी का जन्म?, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें
    चित्र: मंदिर में स्थापित माता अंजनी की गोद में बैठे हनुमानजी की मूर्ति
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Hanuman Jayanti 2018 - हनुमान जयंती 2018: क्या यहीं हुआ था हनुमानजी का जन्म
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×