Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » Mahalakshmi Temple Of Kolhapur

यहां हर महीने देवी लक्ष्मी के अलग अंग को छूती है सूर्य की किरणें, देखें तस्वीरें

यहां सूर्य की किरणें पूरे साल करती है देवी लक्ष्मी की पूजा

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Jan 01, 2018, 05:00 PM IST

  • यहां हर महीने देवी लक्ष्मी के अलग अंग को छूती है सूर्य की किरणें, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    मुंबई से लगभग 400 किमी. दूर कोल्हापुर महाराष्ट्र का एक जिला है, जिसमे धन की देवी लक्ष्मी का एक सुंदर मंदिर है| यहां पर देवी लक्ष्मी को अम्बा जी के नाम पुकारा जाता है। कोल्हापुर का इतिहास धर्म से जुडा हुआ है और इसी वजह से ये जगह धर्म की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है। इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि यहां पर देवी लक्ष्मी की आराधना और कोई नहीं बल्कि सूर्य की किरणें करती है।

    मंदिर का इतिहास

    कहा जाता है कि इस महालक्ष्मी मंदिर का निर्माण प्राचीन काल में चालुक्य शासक कर्णदेव ने 7वीं शताब्दी में करवाया था। इसके बाद शिलहार यादव ने इसे9वीं शताब्दी में और आगे बढाया। मंदिर के मुख्य गर्भगृह में देवी महालक्ष्मी् की लगभग 40 किलो की प्रतिमा स्थापित है, जिसकी लम्बाई लगभग चार फीट की है। यह मंदिर 27000 वर्गफ़ीट में फैला हुआ है, जिसकी ऊंचाई 35 से 45 फीट तक की है। कहा जाता है कि यहां की लक्ष्मी प्रतिमा लगभग 7000 साल पुरानी है|

    सूर्य की किरणें करती हैं लक्ष्मी की आराधना

    यह मंदिर सुंदरता के साथ-साथ अपनी अनोखी पंरपरा के लिए भी मशहूर है। इस मंदिर में मां की मूर्ति पर सूर्य की किरणें पड़ती हैं, जिसे किरण उत्सव या किरणों का त्योहार कहा जाता है। जो कि अपने आप में ही बहुत खास है। 31 जनवरी से 9 नवम्बर तक सूर्य की किरणें मां के चरणों को स्पर्श करती हैं, 1 फरवरी से 10 नवम्बर तक किरणें मां की मूर्ति पर पैरों से लेकर छाती तक आती हैं और फिर 2 फरवरी से 11 नवम्बर तक किरणें पैर से लेकर मां के पूरे शरीर को स्पर्श करती हैं।

    पश्चिम की ओर है देवी का मुंह

    सामान्यतः देवी लक्ष्मी के मंदिरों में उनका मुंह उत्तर या पूर्व दिशा में रहता है, लेकिन यहां का मंदिर थोड़ा अलग है। यहां के मंदिर में देवी लक्ष्मी की मूर्ति का मुंह पश्चिम दिशा की ओर है, जो की बहुत ही कं मंदिरों में पाया जाता है।

    कब जाएं

    इस मंदिर की यात्रा के लिए साल का कोई भी समय चुना जा सकता है, लेकिन नए साल पर, नवरात्र और दिवाली पर यहां विशेष धूम रहती है।

    कैसे पहुंचें

    कोल्हापुर महाराष्ट्र के मुख्य शहरों में से एक है। यहां पर हवाई मार्ग, रेल मार्ग और सड़क मार्ग सभी की नियमित सुविधाएं मौजूद हैं।

    आगे की स्लाइड्स पर देखें मंदिर की कुछ खास तस्वीरें...

  • यहां हर महीने देवी लक्ष्मी के अलग अंग को छूती है सूर्य की किरणें, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
  • यहां हर महीने देवी लक्ष्मी के अलग अंग को छूती है सूर्य की किरणें, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
  • यहां हर महीने देवी लक्ष्मी के अलग अंग को छूती है सूर्य की किरणें, देखें तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×