Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » 5 Most Holy Rivers And Ponds Of Hinduism

ये हैं हिंदू धर्म के 5 खास सरोवर, हर भक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए

5 सरोवर: जहां स्नान करने से मिलता है मोक्ष, जानें सभी के खास धार्मिक महत्व

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Feb 04, 2018, 05:00 PM IST

  • ये हैं हिंदू धर्म के 5 खास सरोवर, हर भक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए, religion hindi news, rashifal news
    +4और स्लाइड देखें

    आज भी प्राचीन काल की ऐसी कई निशानियां मौजूद हैं, जिनका संबंध देवी-देवताओं या ऋषि-मुनियों से माना जाता है। आज हम आपको ऐसे ही 5 सरोवरों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें धार्मिक रूप से बहुत ही खास माना जाता है। इन सरोवरों को लेकर कहा जाता है कि इनमें स्नान करने से मनुष्य को निश्चित ही मोक्ष की प्राप्ति होती है।

    कैलाश मानसरोवर:

    इस सरोवर के बारे में कहा जाता है कि यहीं पर माता पार्वती स्नान करती हैं। पौराण‌िक कथाओं के अनुसार, यह सरोवर ब्रह्माजी मन से उत्पन्न हुआ था। इस सरोवर के पास ही कैलाश पर्वत है जो भगवान शिव का निवास स्‍थान माना जाता है। जिसके कारण इस सरोवर का महत्व और भी कई गुना बढ़ जाता है। इस जगह को हिंदू धर्म के साथ-साथ बौद्ध धर्म में भी बहुत पवित्र माना जाता है।

    नारायण सरोवरः

    गुजरात के कक्ष जिले के लखपत तहसील में स्थित यह सरोवर भगवान का विष्‍णु का सरोवर माना जाता है। मान्यता है कि इस सरोवर में स्वयं भगवान विष्णु ने स्नान किया था। कई पुराणों और ग्रंथों में इस सरोवर के महत्व का वर्णन पाया जाता है।

    पंपा सरोवरः

    मैसूर के पास स्थित पंपा सरोवर एक ऐतिहासिक स्थल है। हंपी के निकट बसे हुए ग्राम अनेगुंदी को रामायणकालीन किष्किंधा माना जाता है। तुंगभद्रा नदी को पार करने पर अनेगुंदी जाते समय मुख्य मार्ग से कुछ हटकर बाईं ओर पश्चिम दिशा में पंपा सरोवर स्थित है। पंपा सरोवर के निकट पश्चिम में पर्वत के ऊपर कई जीर्ण-शीर्ण मंदिर दिखाई पड़ते हैं। यहीं पर एक पर्वत है, जहां एक गुफा है जिससे शबरी की गुफा कहा जाता है। कहते हैं इसी गुफा में शबरी ने भगवान राम को बेर खिलाएं थें।

    पुष्कर सरोवर:

    राजस्‍थान में अजमेर से 14 किमी दूरी पर स्थित इस सरोवर के पास भगवान ब्रह्मा जी ने स्वयं यज्ञ किया था।, जिसके कारण इस सरोवर को मोक्ष दायक माना जाता है। इस सरोवर को लेकर एक यह मान्यता भी प्रचलित है कि भगवान राम ने अपने पिता राजा दशरथ का श्राद्ध भी यहीं पर किए थे।

    बिंदु सरोवरः

    अहमदाबाद से उत्तर में 130 किमी दूरी पर बसे बिंदु सरोवर को लेकर माना जाता है कि इसी सरोवर के किनारे बैठ कर कर्दम ऋषि ने कई हजार वर्षों तक तपस्या की था। इस बात का वर्णन कई ग्रथों और पुराणों में भी पाया जाता है। साथ ही इस जगह को लेकर कहा जाता है कि यहीं पर भगवान परशुराम ने अपनी मां का श्राद्ध किया था।

    आगे देखें खबर का ग्राफिकल प्रेजेंटेशन...



  • ये हैं हिंदू धर्म के 5 खास सरोवर, हर भक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए, religion hindi news, rashifal news
    +4और स्लाइड देखें
  • ये हैं हिंदू धर्म के 5 खास सरोवर, हर भक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए, religion hindi news, rashifal news
    +4और स्लाइड देखें
  • ये हैं हिंदू धर्म के 5 खास सरोवर, हर भक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए, religion hindi news, rashifal news
    +4और स्लाइड देखें
  • ये हैं हिंदू धर्म के 5 खास सरोवर, हर भक्त को एक बार जरूर जाना चाहिए, religion hindi news, rashifal news
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 5 Most Holy Rivers And Ponds Of Hinduism
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×