Home » Jeevan Mantra »Tirth Darshan » Easter Sunday On 1 April, Know About Jesus S Birth Place.

ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से जुड़ा है यीशु के जन्म का कनेक्शन, देखिए तस्वीरें

ईसाई धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, सूली पर लटकाए जाने के तीसरे दिन यीशु पुनर्जीवित हो गए थे।

dainikbhaskar.com| | Last Modified - Mar 31, 2018, 05:00 PM IST

  • ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से जुड़ा है यीशु के जन्म का कनेक्शन, देखिए तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा

    यूटिलिटी डेस्क. ईस्टर संडे, ईसाइयों का महत्वपूर्ण धार्मिक पर्व है। ईसाई धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, सूली पर लटकाए जाने के तीसरे दिन यीशु पुनर्जीवित हो गए थे। इस पर्व को ईसाई धर्म के लोग ईस्टर दिवस, ईस्टर रविवार या संडे के रूप में मनाते हैं। इस बार ईस्टर संडे 1 अप्रैल को है।
    ईस्टर संडे, गुड फ्राईडे के बाद आने वाले रविवार को मनाया जाता है। ईस्टर खुशी का दिन होता है। इस पवित्र रविवार को खजूर इतवार भी कहा जाता है। ईस्टर का पर्व नए जीवन और जीवन के बदलाव के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। ईस्टर रविवार के पहले सभी गिरजाघरों में रात्रि जागरण तथा अन्य धार्मिक परंपराएं पूरी की जाती है तथा असंख्य मोमबत्तियां जलाकर प्रभु यीशु में अपने विश्वास प्रकट करते हैं।

    यहां हुआ था यीशु का जन्म
    बेतलेहेम दुनियाभर के ईसाइयों के लिए सबसे पवित्र और खास जगह मानी जाती है। मान्यताओं के अनुसार, यह वहीं शहर है जहां भगवान यीशु का जन्म हुआ था। यह शहर यरूशलेम से मात्र 5 कि.मी. की दूरी पर है। बेतलेहेम का चर्च ऑफ द नेटिविटी को दुनिया के सबसे प्राचीन चर्चों में से एक माना जाता है।


    कब हुई थी इस चर्च की स्थापना
    यह चर्च खास होने के साथ-साथ बहुत ही सुंदर भी है, जिसके कारण से हर समय यात्रियों के आकर्षण का कारण बना रहता है। इसकी स्थापना 339 ईस्वी में की गई थी, जो किसी ने नष्ट कर दिया था। कुछ सालों बाद यहां पहले से भी बड़े चर्च का निर्माण किया गया, जो आज मौजूद है।

    बना हुआ है चांदी का सितारा
    चर्च में एक जगह पर संगमरमर की फर्श पर एक चांदी का सितारा बना है, जिसमें 14 गोल आकृतियां उभरी हुई हैं। माना जाता है कि ठीक इसी जगह पर भगवान यीशु का जन्म हुआ था। इसी शहर में भगवान यीशु और मदर मैरी से जुड़ी एक और खास जगह है। मिल्क ग्रोटो नाम की एक जगह है, जिसे लेकर लोगों का मानना है कि यह वही जगह है, जहां मदर मैरी ने यीशु को हेरोदेस के सैनिकों के छुपाया था और उन्हें दूध पिलाया था।

  • ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से जुड़ा है यीशु के जन्म का कनेक्शन, देखिए तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    चित्र: चर्च ऑफ द नेटिविटी
  • ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से जुड़ा है यीशु के जन्म का कनेक्शन, देखिए तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    चित्र: यीशु के जन्मस्थल पर बना चांदी का सितारा
  • ईस्टर संडे: इस चांदी के सितारे से जुड़ा है यीशु के जन्म का कनेक्शन, देखिए तस्वीरें, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें
    चित्र: चर्च के अंदर का दृश्य
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Easter Sunday On 1 April, Know About Jesus S Birth Place.
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×