Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Shani Ke Upay In Hindi, Shani Dev Ke Upay, Neelam In Ring

लोहे की अंगूठी में ये रत्न पहनेंगे तो धन के साथ मिल सकती है प्रसिद्धि

जब किसी व्यक्ति की कुंडली में या राशि में शनि अशुभ फल दे रहा हो तो शनि के रत्न को धारण करने से शुभ फल मिल सकते हैं।

जीवन मंत्र डेस्क | Last Modified - Nov 20, 2017, 05:16 PM IST

  • लोहे की अंगूठी में ये रत्न पहनेंगे तो धन के साथ मिल सकती है प्रसिद्धि, religion hindi news, rashifal news

    शनि ग्रह का रत्न नीलम है। इसे नील, नीलमणि व हिन्दी में नीलम और इंग्लिश में सैफायर कहते हैं। कुंडली में मकर या तुला राशि में शनि हो तो व्यक्ति धनी और सुखी रहता है। यदि कुंडली के प्रथम भाव में शनि हो तो व्यक्ति के जीवन में धन की कमी रहती है। शनि के अशुभ फल दूर करने के लिए नीलम धारण करना चाहिए।

    नीलम धारण विधि

    नीलम 3, 5, 7, 9 या 12 रत्ती का लोहे अथवा सोने की अंगूठी में जड़वाकर शुक्ल पक्ष के शनिवार को पुष्प, उभा, चित्रा, धनिष्ठा या शतभिषा नक्षत्र में धारण करना चाहिए। ध्यान रखें किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से अपनी कुंडली अध्ययन करवाने के बाद ही नीलम धारण करना चाहिए।

    नीलम धारण करने के लाभ

    नीलम धारण करने से धन, यश, प्रसिद्धि, जॉब, व्यवसाय और वंश में वृद्धि होती है। औषधि के रूप में नीलम से दमा, क्षय, कुष्ठ रोग, खांसी, नेत्र रोग, मस्तिष्क के विकारों में भी लाभ होता है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×