Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Tips For Temple In Home, Ghar Ke Mandir, How To Avoid Bad Time, Tips For Good Luck

घर के मंदिर में भूलकर भी न रखें ये 4 चीजें, वरना दूर नहीं होगा बुरा समय

जो लोग नियमित रूप से पूजा-पाठ करते हैं, उनके घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Feb 05, 2018, 05:00 PM IST

    • पूजा-पाठ में हम कई प्रकार की चीजों का उपयोग करते हैं। कुछ चीजें स्थाई रूप से पूजा में काम आती हैं तो कुछ चीजें हर बार खरीदकर लानी होती हैं। कभी-कभी जाने-अनजाने हम घर के मंदिर में पूजा से जुड़ी कुछ ऐसी चीजें रखी रहने देते हैं जो नकारात्मकता बढ़ाती है, जिनकी वजह से देवी-देवताओं की कृपा नहीं मिल पाती है और घर में दरिद्रता का आगमन हो जाता है। यहां जानिए ये चीजें कौन-कौन सी हैं, जिन्हें घर में रखने से बचना चाहिए...

      सूखे हार-फूल

      घर में जब भी पूजा-पाठ होता है तो भगवान को हार-फूल अवश्य चढ़ाए जाते हैं। पूजा के बाद कभी-कभी ये हार-फूल घर में ही रखे-रखे सूख जाते हैं और ऐसे ही पड़े रहते हैं। सूखे हार-फूल घर में रखना अशुभ माना गया है। इसीलिए इन्हें घर के गमलों में डाल देना चाहिए। ताकि अन्य पौधों के लिए ये खाद का काम कर सके।

      सूखा तुलसी का पौधा

      घर में तुलसी होना बहुत शुभ रहता है और जो लोग नियमित रूप इसकी पूजा भी करते हैं, उन्हें धर्म लाभ के साथ ही आर्थिक और स्वास्थ्य लाभ मिलता है। यदि किसी कारण से तुलसी का पौधा सूख जाता है तो उसे घर में नहीं रखना चाहिए। ये अशुभ माना गया है। यदि आप चाहें तो सूखे पौधे को किसी तालाब में या नदी में प्रवाहित कर सकते हैं।

      टूटे या खंडित दीपक

      पूजा में हमेशा अखंडित दीपक का ही उपयोग करना चाहिए। यदि दीपक मिट्टी का है और कहीं से थोड़ा सा भी टूट जाए तो पूजा में उसका उपयोग नहीं करना चाहिए। ऐसे दीपक को घर में भी नहीं रखना चाहिए।

    • घर के मंदिर में भूलकर भी न रखें ये 4 चीजें, वरना दूर नहीं होगा बुरा समय, religion hindi news, rashifal news
      +1और स्लाइड देखें

      खंडित मूर्तियां

      घर के मंदिर में या घर में किसी भी प्रकार से खंडित मूर्तियों को नहीं रखना चाहिए। यदि मिट्टी की कोई मूर्ति खंडित हो जाए या किसी धातु की कोई मूर्ति किसी कारण से टेढ़ी-मेढ़ी हो जाए तो उसे भी घर में नहीं रखना चाहिए। ऐसी मूर्तियों को किसी में पीपल के नीचे रख देना चाहिए या किसी नदी-तालाब में प्रवाहित कर देना चाहिए।

    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    Trending

    Top
    ×