Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Shani Mangal In Astrology, Chaitra Navratri, Navratra In 2018, Rashifal 2018

30 साल बाद नवरात्र में शनि-मंगल का योग, नाम राशि से जानें किसकी चमकेगी किस्मत

18 मार्च से चैत्र मास के नवरात्र प्रारंभ हो रहे हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 17, 2018, 11:29 AM IST

    • यूटिलिटी डेस्क. रविवार, 18 मार्च से चैत्र मास के नवरात्र शुरू हो रहे हैं। इस बार नवरात्र में मंगल के साथ शनि की युति धनु राशि में बनी हुई है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार 30 साल पहले भी 18 मार्च 1988 से चैत्र नवरात्र शुरु हुए थे। तब भी मंगल और शनि धनु राशि में स्थित थे। अब ये योग 30 साल बाद बना है। धनु गरु के स्वामित्व वाली राशि है। मंगल और शनि दोनों गुरु ग्रह के मित्र हैं, लेकिन मंगल-शनि एक-दूसरे से शत्रुता रखते हैं। इस साल नवरात्र आठ दिनों के रहेंगे।

      नवरात्र में बनेंगे ये शुभ योग भी

      18 मार्च को गुड़ी पड़वा है और इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा। इसके बाद 20 मार्च को अमृत सिद्ध योग भी रहेगा। पं. शर्मा के अनुसार ये दोनों ही योग शुभ हैं और इन योगों में किए गए काम जल्दी सिद्ध होते हैं। इसीलिए अगर आप कोई नया काम शुरू करना चाहते हैं तो इन दिनों में कर सकते हैं।

      जानिए धनु राशि में शनि-मंगल के योग की वजह से सभी 12 राशियों के लिए आने वाला समय कैसा रहेगा…

      मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)

      अक्टूबर तक गुरु की पूर्ण दृष्टि से जमीन संबंधी मामलों में आय बढ़ेगी। नए स्रोत भी प्राप्त होंगे। आलोचनाओं से बचने का मौका मिलेगा और विवादों में विजय प्राप्त होगी। एक साथ कई कार्यों को करने का मौका मिलेगा। मित्रों के साथ ही परिवार से सहयोग मिलेगा। अक्टूबर के बाद संभलकर रहना होगा।

      क्या करें-यथाशक्ति धन एवं वस्त्र का दान करें।

      वृषभ (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)

      इस राशि पर शनि का ढय्या पूरे वर्ष रहेगा। मन विचलित हो सकता है और छोटी-छोटी बात पर क्रोध आ सकता है। आत्मविश्वास में कमी हो सकती है। परिवार को कष्ट मिल सकता है। स्वयं के काम को ईमानदारी से करें अन्यथा परेशानियां बढ़ सकती हैं।

      क्या करें-किसी गरीब को कंबल या अन्य गर्म कपड़ों का दान करें।

      मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)

      पूरे वर्ष राशि मजबूत बनी रहेगी। हर काम में सफलता के साथ आत्मविश्वास बढ़ा हुआ रहेगा। ज्यादा सफलताओं से आत्म विश्वास बढ़ सकता है। पराक्रम में वृद्धि होगी और कोई बड़ा काम भी हो सकता है।

      क्या करें- किसी निर्धन को कच्चे चावल और मूंग की दाल दान करें।
    • 30 साल बाद नवरात्र में शनि-मंगल का योग, नाम राशि से जानें किसकी चमकेगी किस्मत, religion hindi news, rashifal news
      +3और स्लाइड देखें

      कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

      आत्मबल मजबूत रहेगा, लेकिन चिंताएं अधिक होने की संभावना बनी रहेगी। जोखिमपूर्ण काम करने से बचें। विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। दिसंबर 2018 से फरवरी 2019 तक व्यय अधिक और आय कम होने के आसार हैं। मार्च 2019 में राहु का गोचर समाप्त होगा। पुन: सुधार दिखाई देगा।

      क्या करें- किसी गरीब बालक पढ़ाई की सामग्री दान करें।

      सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)

      वर्ष भर में ग्रहों के प्रभाव आते-जाते रहेंगे। आय में वृद्धि की संभावनाएं बनेंगी, हालांकि किसी बड़े ग्रह का प्रभाव नहीं होने से, काम करने से पहले हर बात को जांच लेना ठीक होगा। अक्टूबर से गुरु चतुर्थ हो जाएगा। राहु द्वादश रहेगा। यह समय कुछ चिंताजनक हो सकता है।

      क्या करें- हर रविवार किसी निर्धन को धन का दान करें।

      कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)

      शनि का ढय्या रहेगा। आपके लिए श्रेष्ठ समय रहेगा। बाधाएं समाप्त होंगी और सभी ओर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। अगस्त के बाद से काम की अधिकता रहेगी और भाग्य भी अनुकूल रहेगा। आवश्यकताएं समय पर पूरी होंगी। नवीन कामों की प्राप्ति भी होगी।

      क्या करें- किसी छोटी कन्या को वस्त्र और आभूषण दान करें।

    • 30 साल बाद नवरात्र में शनि-मंगल का योग, नाम राशि से जानें किसकी चमकेगी किस्मत, religion hindi news, rashifal news
      +3और स्लाइड देखें

      तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)

      नव वर्ष शुरुआत से ही अनुकूलता प्रदान करने वाला रहेगा। शनि के वक्री होने से कुछ परेशानियां आ सकती हैं। अक्टूबर से राहत प्राप्त होगी। आय में सुधार होगा और विवादित मामलों में विजय प्राप्त मिलेगी।

      क्या करें- बेसन एवं पुराने वस्त्रों का दान करें।

      वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

      आरंभ में कठिनाइयां रहेंगी। अक्टूबर में गुरु का आपकी राशि में प्रवेश होगा। समय सब प्रकार से अनुकूल रहेगा। परिवार में वर्चस्व बढ़ेगा और कार्यस्थल पर अनुकूलता बनी रहेगी। नए कार्यों की प्राप्ति भी होगी। किसी बड़े काम की ओर अग्रसर हो सकते हैं। फायनेंस के क्षेत्र में जाने का मन बनेगा।

      क्या करें- हर गुरुवार को चने की दाल का दान करें।

      धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)

      मंगल, शनि का गोचर इस राशि में है। यह राशि अपने स्वयं के दम पर आगे बढ़ने की स्थिति में है। जनवरी 2019 के बाद से और अच्छा समय आ सकता है। किसी अन्य से सहायता लिए बिना ही अपना कार्य सिद्ध कर लेंगे। साढ़ेसाती का प्रभाव बना रहेगा।

      क्या करें- गरीब को अन्न का दान करें।

    • 30 साल बाद नवरात्र में शनि-मंगल का योग, नाम राशि से जानें किसकी चमकेगी किस्मत, religion hindi news, rashifal news
      +3और स्लाइड देखें

      मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)

      इस साल सारे काम सुगमता से चलते रहेंगे और किसी प्रकार की बाधा आने की संभावनाएं नहीं हैं। अधिकारी अनुकूल बने रहेंगे और बेकार के कार्यों में समय बर्बाद नहीं होगा। धन का आगमन भी सुगम रहेगा। न्यायालयीन मामलों में सफलता मिलेगी। साढ़ेसाती असर पूरे वर्ष बना रहेगा।

      क्या करें-समय-समय पर खिचड़ी का दान करें।

      कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)

      राशि स्वामी शनि की पूर्ण तृतीय दृष्टि आपकी राशि पर है। वर्षभर तक यह स्थिति बनी रहेगी। धन के मामलों में कमी रहेगी और आत्मबल मजबूत रहेगा। सम्मान भी प्राप्त होगा। भविष्य को लेकर आशाएं जीवंत रहेंगी। बच्चों के साथ रहने का समय मिलेगा और दिसंबर से धन आगमन भी सुगम हो जाएगा।

      क्या करें-पीले वस्त्रों का दान करें।

      मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)

      इस राशि के लिए नीच का बुध, सूर्य, चंद्रमा और उच्च के शुक्र का गोचर रहेगा। इस कारण कुछ परेशानियां बढ़ सकती हैं। निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में कठिनाइयां होंगी। परिवार के अलावा किसी और से मदद नहीं मिल पाएगी।

      क्या करें-ब्राह्मण को जनेउ, आसन और गीता का दान करें।

    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    Trending

    Top
    ×