Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Planets And Effects In Hindi, Kundli Reading About Three Planets In One House

तीन ग्रह एक साथ हों तो कैसा होता है आपके जीवन पर असर, जानिए

कुंडली में ग्रहों की स्थिति के अनुसार हमें सुख-दुख मिलते हैं।

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Dec 29, 2017, 05:00 PM IST

  • तीन ग्रह एक साथ हों तो कैसा होता है आपके जीवन पर असर, जानिए, religion hindi news, rashifal news

    ज्योतिष के अनुसार कुंडली में बारह भाव होते हैें और इन भावों में नौ ग्रह अपनी स्थितियों से हमें सुख या प्रदान करते हैं। कुछ लोगों की कुंडली के किसी एक भाव में एक से अधिक ग्रह होते हैं। ग्रहों के योग से व्यक्ति के जीवन पर गहरा असर होता है। यहां जानिए कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार किसी व्यक्ति की कुंडली के एक भाव में तीन ग्रह होते हैं तो उसका कैसा असर हो सकता है...

    1. सूर्य, चंद्र और बुध एक साथ होते हैं तो ये योग माता-पिता के लिए अशुभ होता है। इस योग के प्रभाव से व्यक्ति मनोवैज्ञानिक, सरकारी अधिकारी बन सकता है। व्यक्ति अशांत रहता है।

    2. सूर्य, चंद्र और केतु एक साथ हो तो व्यक्ति रोज़गार के लिए परेशान रहता है। इस योग की वजह से व्यक्ति को मानसिक तनाव का सामना करना पड़ता है। धनवान होने के बाद भी ये लोग सुखी नहीं रह पाते हैं।

    3. सूर्य, शुक्र और शनि एक साथ होते हैं तो व्यक्ति को जीवन साथी से पूर्ण सुख नहीं मिल पाता है। पति-पत्नी में वाद-विवाद होते रहते हैं। अगर व्यक्ति सरकारी नौकरी करता है तो उसमें परेशानियां आती है।

    4. सूर्य, बुध और राहु एक साथ होने पर व्यक्ति को सरकारी नौकरी मिल सकती है। बड़ा पद मिल सकता है, लेकिन नौकरी में परेशानियां बहुत आती हैं।

    5. चंद्र, शुक्र और बुध एक होते हैं व्यक्ति सरकारी अधिकारी बन सकता है। इस योग के असर से घर में अशांति रहती है। ये योग व्यापारियों के लिए शुभ नहीं रहता है।

    6. चंद्र, मंगल और बुध कुंडली के एक भाव में साथ होते हैं तो व्यक्ति मन, साहस, बुद्धि का सामंजस्य बनाए रखता है। इनका स्वास्थ्य अच्छा रहता है। व्यक्ति नीतियां बनाने वाला होता है।

    7. चंद्र, मंगल और शनि एक होते हैं तो व्यक्ति की नजर कमजोर होती है। बीमारी का भय रहता है। मानसिक तनाव का सामना करना पड़ता है।

    8. चंद्र, मंगल और राहु एक साथ होते हैं तो ये योग पिता के शुभ नहीं होता है। व्यक्ति स्वभाव से चंचल होता है। माता और भाई के लिए ये योग योग सामान्य रहता है।

    9. चंद्र, बुध और शनि कुंडली में एक साथ हों तो व्यक्ति को बुद्धि से संबंधित कामों में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अशांति रहती है।

    10. चंद्र, बुध और राहु कुंडली में एक होने पर ये योग माता के शुभ नहीं होता है। इस योग की वजह से दुर्घटना की संभावनाए बनती हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×