Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Navratra Ke Upay, Devi Durga Ke Upay In Hindi, Navratra Ke Upay In Hindi, Mantra Puja

आपकी बड़ी से बड़ी परेशानी हो सकती है दूर, नवरात्र में बोलें ये छोटा सा मंत्र

देवी मां के मंत्रों का जाप करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 17, 2018, 05:00 PM IST

  • आपकी बड़ी से बड़ी परेशानी हो सकती है दूर, नवरात्र में बोलें ये छोटा सा मंत्र, religion hindi news, rashifal news

    यूटिलिटी डेस्क. नवरात्र में की गई देवी पूजा से बड़ी-बड़ी परेशानियां भी आसानी से दूर हो सकती हैं। देवी दुर्गा को मनाने का सबसे अच्छा तरीका है दुर्गा सप्तशती के मंत्रों का जाप करना। मान्यता है कि दुर्गा सप्तशती के मंत्र बहुत जल्दी असर दिखाते हैं। अगर मंत्र जाप में कोई गलती की जाए या पवित्रता का ध्यान न रखा जाए तो मंत्र जाप से बुरे असर भी मिल सकते हैं। जानिए उज्जैन की एस्ट्रोलॉजर डॉ. विनिता नागर के अनुसार परेशानियों को दूर करने वाले दुर्गा सप्तशती के खास मंत्र और जाप की सामान्य विधि...

    सभी परेशानियों को दूर करने के लिए

    सर्वाबाधाप्रशमनं त्रैलोक्यस्याखिलेश्वरि।

    एवमेव त्वया कार्यमस्मद्वरिविनासनम्।।

    परिवार की सुख-समृद्धि के लिए

    देव्या यया ततमिदं जगदात्मशक्त्या

    निश्शेषदेवगणशक्तिसमूहमूत्र्या।

    तामम्बिकामखिलदेवमहर्षिपूज्यां

    भकत्या नता: स्म विदधातु शुभानि सा न: ।।

    सभी प्रकार के डर को दूर करने के लिए

    यस्या: प्रभावमतुलं भगवाननन्तो

    ब्रह्मा हरश्च न हि वक्तुमलं बलं च।

    सा चण्डिकाखिलजगत्परिपालनाय

    नाशाय चाशुभभयस्य मतिं करोतु।।

    मंत्र जाप के लिए सावधानी

    दुर्गा सप्तशती के मंत्रों का सही उच्चारण के साथ जाप करना चाहिए। यदि आप मंत्रों का उच्चारण ठीक से नहीं कर सकते तो किसी योग्य ब्राह्मण से इन मंत्रों का जाप करवाएं, अन्यथा इसके दुष्परिणाम भी हो सकते हैं। साथ ही मंत्र जाप करने वाले व्यक्ति को पवित्रता और ब्रह्मचर्य का भी ध्यान रखना चाहिए।

    ये जाप की सामान्य विधि

    1. नवरात्र में रोज सुबह जल्दी उठकर साफ वस्त्र पहनकर सबसे पहले माता दुर्गा की पूजा करें।

    2. इसके बाद घर के मंदिर में या किसी अन्य देवी मंदिर में आसन पर बैठकर मंत्रों का जाप करें।

    3. मंत्र जाप के लिए लाल चंदन के मोतियों की माला का उपयोग करना चाहिए।

    4.मंत्र जाप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×