Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Makar Sankranti 2018, Makar Sankranti Ke Upay, Makar Sankranti Ke Kaam

मकर संक्रांति पर भूलकर भी न करें ये एक गलती, वरना आ सकता है बुरा समय

संक्रांति पर पुण्य कर्म करने से बुरा समय दूर हो सकता है।

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Jan 11, 2018, 05:00 PM IST

  • मकर संक्रांति पर भूलकर भी न करें ये एक गलती, वरना आ सकता है बुरा समय, religion hindi news, rashifal news

    इस बार रविवार, 14 जनवरी को मकर संक्रांति है। ये पर्व सूर्य देव को समर्पित है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करना और सूर्य को अर्घ्य चढ़ाने की परंपरा है। ज्योतिष में नौ ग्रह बताए गए हैं और इन नौ ग्रहों में सूर्य को राजा माना जाता है। सूर्य ग्रह जब धनु राशि के मकर राशि में प्रवेश करता है, तब मकर संक्रांति मनाई जाती है। 14 जनवरी के बाद सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण हो जाता है।

    शुरू हो जाएंगे मांगलिक काम

    मकर संक्रांति के बाद खरमास समाप्‍त हो जाता है। खरमास में सभी मांगलिक काम वर्जित रहते हैं, अब सभी मांगलिक काम शुरू हो जाएंगे। शास्त्रों में उत्तरायण के समय को देवताओं का दिन और दक्षिणायन को देवताओं की रात कहा गया है। इस तरह मकर संक्रांति देवताओं की सुबह मानी जाती है।

    संक्रांति पर करें दान-पुण्य

    मकर संक्रांति पर नदी स्नान, दान, मंत्र जाप, हवन, श्राद्ध और पूजा-पाठ करने का महत्व है। मान्यता है कि इस दिन किया गया दान सौ गुणा फल प्रदान करता है। मकर संक्रांति पर घी, तिल, कंबल, खिचड़ी दान करना चाहिए।

    संक्रांति पर देर तक सोने की गलती न करें

    मकर संक्रांति पर सुबह जल्दी उठकर सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए, इस दिन सुबह देर तक नहीं सोना चाहिए। ये गलती करने वाले लोगों को सूर्य के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कुंडली में सूर्य के दोष बढ़ते हैं और बुरे समय का आगमन हो सकता है। सूर्य की पूजा के लिए सुबह-सुबह का समय ही श्रेष्ठ रहता है, सूर्योदय के समय जल अर्पित करने पर सूर्य देव की विशेष कृपा मिलती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×