Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Kundli Reading About Marriage In Hindi, How To Get Married, Married Life And Astrology

इन 10 कारणों से भी हो सकती है शादी में देरी

कुंडली से मालूम हो सकता है कि किसी व्यक्ति की शादी में देरी क्यों हो रही है।

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Jan 24, 2018, 08:43 AM IST

  • इन 10 कारणों से भी हो सकती है शादी में देरी, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    कुंडली के कुछ ऐसे योग बताए गए हैं, जिनसे विवाह में देरी होती है। इन योगों के कारण सुयोग्य लड़के या लड़की की शादी में अकारण ही बाधाएं आती हैं और बहुत कोशिशों के बाद भी विवाह जल्दी नहीं हो पाता है। यहां जानिए कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार विवाह में देरी कराने वाले योग...

    1. कुंडली के सप्तम भाव में बुध और शुक्र दोनों हो तो विवाह की बातें होती रहती हैं, लेकिन विवाह काफी समय के बाद होता है।

    2. चौथा भाव या लग्न भाव में मंगल हो और सप्तम भाव में शनि हो तो व्यक्ति की रुचि शादी में नहीं होती है।

    3. सप्तम भाव में शनि और गुरु हो तो शादी देर होती है।

    4. चंद्र से सप्तम में गुरु हो तो शादी देर से होती है।

    5. चंद्र की राशि कर्क से गुरु सप्तम हो तो विवाह में बाधाएं आती हैं।

    6. सप्तम में त्रिक भाव का स्वामी हो, कोई शुभ ग्रह योगकारक नही हो तो विवाह में देरी होती है।

    7. सूर्य, मंगल या बुध लग्न या लग्न के स्वामी पर दृष्टि डालते हों और गुरु बारहवें भाव में बैठा हो तो व्यक्ति में आध्यात्मिकता अधिक होने से विवाह में देरी होती है।

    8. लग्न (प्रथम) भाव में, सप्तम भाव में और बारहवें भाव में गुरु या शुभ ग्रह योग कारक न हो और चंद्रमा कमजोर हो तो विवाह में बाधाएं आती हैं।

    9. महिला की कुंडली में सप्तमेश या सप्तम भाव शनि से पीड़ित हो तो विवाह देर से होता है।

    10.राहु की दशा में शादी हो या राहु सप्तम भाव को पीड़ित कर रहा हो तो शादी होकर टूट सकती है।

  • इन 10 कारणों से भी हो सकती है शादी में देरी, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    शादी में देरी हो रही है तो कर सकते हैं ये उपाय

    - अगर किसी व्यक्ति की शादी में देरी हो रही है तो उपाय कुंडली के सप्तम भाव से संबंधित ग्रह के उपाय करना चाहिए।

    - शिवलिंग के साथ ही माता पार्वती की भी पूजा करें। माता पार्वती की पूजा खासतौर पर लड़कियों को करनी चाहिए। इससे विवाह से जुड़ी बाधाएं दूर हो सकती हैं।

    - रोज सुबह गणेशजी की पूजा करें। गणेशजी रिद्धि-सिद्धि के दाता हैं और परिवार के देवता है। इनकी पूजा करने से सभी इच्छाएं पूरी हो सकती हैं।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×