Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Know About Rakshas Gad.

​आस-पास हो कोई अदृश्य साया तो ये लोग तुरंत समझ जाते हैं

हमारे आस-पास कई ऐसी अदृश्य शक्तियां रहती हैं, जिन्हें हम देख नहीं पाते। यह शक्तियां नेगेटिव भी होती हैं और पॉजिटिव भी।

जीवन मंत्र डेस्क | Last Modified - Dec 25, 2017, 05:00 PM IST

  • ​आस-पास हो कोई अदृश्य साया तो ये लोग तुरंत समझ जाते हैं, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें

    हमारे आस-पास कई ऐसी अदृश्य शक्तियां रहती हैं, जिन्हें हम देख नहीं पाते। यह शक्तियां नेगेटिव भी होती हैं और पॉजिटिव भी। सिर्फ कुछ लोग ही इन्हें देख या महसूस कर पाते हैं। राक्षस गण वाले लोगों को भी इन शक्तियों का अहसास तुरंत हो जाता है। ऐसे लोग भूत-प्रेत व आत्मा आदि शक्तियों को तुरंत ही भांप जाते हैं।

    क्या हैं राक्षस गण?
    राक्षस गण, यह शब्द जीवन में कई बार सुनने में आता है लेकिन कुछ ही लोग इसका मतलब जानते हैं। यह शब्द सुनते ही मन और मस्तिष्क में एक अजीब सा भय भी उत्पन्न होने लगता है और हमारा मन राक्षस गण वाले लोगों के बारे में कई कल्पनाएं भी करने लगता है। जबकि सच्चाई काफी अलग है। ज्योतिष शास्त्र के आधार पर प्रत्येक मनुष्य को तीन गणों में बांटा गया है। मनुष्य गण, देव गण व राक्षस गण।

    देव गण
    जो मनुष्य देव गण से संबंध रखता है। वह दानी, बुद्धिमान, कम खाने वाला और कोमल हृदय का होता है। ऐसे व्यक्ति के विचार बहुत उत्तम होते हैं, वह अपने से पहले दूसरों का हित सोचता है।

    मनुष्य गण
    जिन लोगों का संबंध मनुष्य गण से होता है। वह धनवान होने के साथ ही धनुर्विद्या के अच्छे जानकार होते हैं। उनके नेत्र बड़े-बड़े होते हैं साथ ही वह समाज में काफी सम्मान पाते हैं और लोग उसकी बात को ऊपर रखकर चलते हैं।


    राक्षस गण के बारे में जानने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें-

    तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।



  • ​आस-पास हो कोई अदृश्य साया तो ये लोग तुरंत समझ जाते हैं, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें

    कैसे पहचाने गण को?
    कौन सा व्यक्ति किस गण का है यह जन्म नक्षत्र (जन्म कुंडली) के माध्यम से जाना जा सकता है। मनुष्य गण तथा देव गण वाले लोग सामान्य होते हैं। जबकि राक्षस गण वाले जो लोग होते हैं उनमें एक नैसर्गिक गुण होता है कि यदि उनके आस-पास कोई नकरात्मक शक्ति है तो उन्हें तुरंत इसका अहसास हो जाता है। कई बार इन लोगों को यह शक्तियां दिखाई भी देती हैं, लेकिन इसी गण के प्रभाव से इनमें इतनी क्षमता भी आ जाती है कि वे इनसे जल्दी ही भयभीत नहीं होते। राक्षस गण वाले लोग साहसी भी होते हैं तथा विपरीत परिस्थिति में भी घबराते नहीं हैं।

  • ​आस-पास हो कोई अदृश्य साया तो ये लोग तुरंत समझ जाते हैं, religion hindi news, rashifal news
    +2और स्लाइड देखें

    इन नक्षत्रों में पैदा होने वालों का होता है राक्षण गण
    1. कृत्तिका
    2. अश्लेषा
    3. मघा
    4. चित्रा
    5. विशाखा
    6. ज्येष्ठा
    7. मूल
    8. धनिष्ठा
    9. शतभिषा

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×