Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » Hanuman Ashtami- Do This Measures On Sunday.

हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय

पौस मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को हनुमान अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 10 दिसंबर, रविवार को है।

जीवन मंत्र डेस्क | Last Modified - Dec 07, 2017, 05:00 PM IST

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    पौस मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को हनुमान अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 10 दिसंबर, रविवार को है। इस दिन कुछ विशेष उपाय करने से आपकी हर परेशानी दूर हो सकती है। ये उपाय इस प्रकार हैं-

    ऐसे चढाएं हनुमानजी को चोला
    हनुमान अष्टमी (10 दिसंबर, रविवार) पर हनुमानजी को चोला चढ़ाएं। हनुमानजी को चोला चढ़ाने से पहले स्वयं स्नान कर शुद्ध हो जाएं और साफ वस्त्र धारण करें। सिर्फ लाल रंग की धोती पहने तो और भी अच्छा रहेगा। चोला चढ़ाने के लिए चमेली के तेल का उपयोग करें। साथ ही, चोला चढ़ाते समय एक दीपक हनुमानजी के सामने जला कर रख दें। दीपक में भी चमेली के तेल का ही उपयोग करें।
    चोला चढ़ाने के बाद हनुमानजी को गुलाब के फूल की माला पहनाएं और केवड़े का इत्र हनुमानजी की मूर्ति के दोनों कंधों पर थोड़ा-थोड़ा छिटक दें। अब एक साबूत पान का पत्ता लें और इसके ऊपर थोड़ा गुड़ व चना रख कर हनुमानजी को भोग लगाएं। भोग लगाने के बाद उसी स्थान पर थोड़ी देर बैठकर तुलसी की माला से नीचे लिखे मंत्र का जाप करें। कम से कम 5 माला जाप अवश्य करें।

    मंत्र- राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे।
    सहस्त्र नाम तत्तुन्यं राम नाम वरानने।।

    अब हनुमानजी को चढाए गए गुलाब के फूल की माला से एक फूल तोड़ कर, उसे एक लाल कपड़े में लपेटकर अपने धन स्थान यानी तिजोरी में रखें। इससे धन संबंधी समस्या हल होने के योग बनने लगेंगे।

    हनुमान को प्रसन्न करने के अन्य उपाय जानने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें-

    तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    हनुमानजी को चढ़ाएं पान
    हनुमानजी को एक विशेष पान अर्पित करें। इस पान में केवल कत्था, गुलकंद, सौंफ, खोपरे का बुरा और सुमन कतरी डलवाएं। पान बनवाते समय इस बात का ध्यान रखें कि उसमें चूना एवं सुपारी नही हो। इस पान में तंबाकू भी नहीं होनी चाहिए। हनुमानजी का विधि-विधान से पूजन करने के बाद यह पान हनुमानजी को यह बोलकर अर्पण करें- हे हनुमानजी। आपको मैं यह मीठा रस भरा पान अर्पण कर रहा हूं। आप भी मेरा जीवन मिठास से भर दीजिए। हनुमानजी की कृपा से कुछ ही दिनों में आपकी हर समस्या दूर हो जाएगी।

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    करें बड़ के पेड़ का उपाय
    रविवार की सुबह स्नान करने के बाद बड़ (बरगद) के पेड़ का एक पत्ता तोड़ें और इसे साफ स्वच्छ पानी से धो लें। अब इस पत्ते को कुछ देर हनुमानजी की प्रतिमा के सामने रखें और इसके बाद इस पर केसर से श्रीराम लिखें। अब इस पत्ते को अपने पर्स में रख लें। साल भर आपका पर्स पैसों से भरा रहेगा। अगली होली पर इस पत्ते को किसी नदी में प्रवाहित कर दें और इसी प्रकार से एक और पत्ता अभिमंत्रित कर अपने पर्स में रख लें।

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    घर में स्थापित करें पारद हनुमान की प्रतिमा

    अपने घर में पारद से निर्मित हनुमानजी की प्रतिमा स्थापित करें। पारद को रसराज कहा जाता है। पारद से बनी हनुमान प्रतिमा की पूजा करने से बिगड़े काम भी बन जाते हैं। पारद से निर्मित हनुमान प्रतिमा को घर में रखने से सभी प्रकार के वास्तु दोष स्वत: ही दूर हो जाते हैं, साथ ही घर का वातावरण भी शुद्ध होता है। प्रतिदिन इसकी पूजा करने से किसी भी प्रकार के तंत्र का असर घर में नहीं होता और न ही साधक पर किसी तंत्र क्रिया का प्रभाव पड़ता है। यदि किसी को पितृदोष हो, तो उसे प्रतिदिन पारद हनुमान प्रतिमा की पूजा करनी चाहिए। इससे पितृदोष समाप्त हो जाता है।

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    करें हनुमान यंत्र का पूजन
    रविवार की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद किसी शांत एवं एकांत कमरे में पूर्व दिशा की ओर मुख करके लाल आसन पर बैठें। स्वयं लाल या पीली धोती पहनें। अपने सामने चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर हनुमानजी की मूर्ति स्थापित करें। चित्र के सामने तांबे की प्लेट में लाल रंग के फूल का आसन देकर श्रीहनुमान यंत्र को स्थापित करें। यंत्र पर सिंदूर से टीका करें और लाल फूल चढ़ाएं। मूर्ति तथा यंत्र पर सिंदूर लगाने के बाद धूप, दीप, चावल, फूल व प्रसाद आदि से पूजन करें। सरसों या तिल के तेल का दीपक एवं धूप जलाएं-


    ध्यान- दोनों हाथ जोड़कर हनुमानजी का ध्यान करें-

    ऊं रामभक्ताय नम:। ऊं महातेजसे नम:।
    ऊं कपिराजाय नम:। ऊं महाबलाय नम:।
    ऊं दोणाद्रिहराय नम:। ऊं सीताशोक हराय नम:।
    ऊं दक्षिणाशाभास्कराय नम:। ऊं सर्व विघ्न हराय नम:।

    आह्वान-हाथ जोड़कर हनुमानजी का आह्वान करें-


    हेमकूटगिरिप्रान्त जनानां गिरिसामुगाम्।
    पम्पावाहथाम्यस्यां नद्यां ह्रद्यां प्रत्यनत:।।

    विनियोग- दाएं हाथ में आचमनी में या चम्मच में जल भरकर यह विनियोग करें-


    अस्य श्रीहनुमन्महामन्त्रराजस्य श्रीरामचंद्र ऋषि: जगतीच्छन्द:, श्रीहनुमान, देवता, ह् सौं बीजं, हस्फ्रें शक्ति: श्रीहनुमत् प्रसादसिद्धये जपे विनियोग:।


    अब जल छोड़ दें। इस प्रकार श्रीहनुमान यंत्र की पूजा से सभी मनोकामना पूरी होती हैं।

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    रोग ठीक करने के लिए उपाय
    चांदी से बनी हनुमान प्रतिमा का पूजन करें। इसके बाद इस प्रतिमा को एक अन्य बर्तन में स्थापित कर इस पर धीरे-धीरे चम्मच से पानी डालते रहें। साथ ही ऊं हं हनुमतये नम: मंत्र का जाप भी करते रहें। अब इस पानी को किसी साफ बोतल में भरकर रख लें। जब भी परिवार में कोई बीमार हो, तो उसे यह पानी थोड़ा-थोड़ा पिलाते रहें। इससे रोगी जल्दी ठीक हो सकता है। साथ ही, डॉक्टरी उपचार भी अवश्य करवाएं।

  • हनुमानजी करेंगे हर मुश्किल आसान, रविवार को करें इनमें से 1 उपाय, religion hindi news, rashifal news
    +6और स्लाइड देखें

    शाम को जलाएं दीपक
    हनुमान अष्टमी की शाम को समीप स्थित किसी हनुमान मंदिर में जाएं और हनुमानजी की प्रतिमा के सामने एक सरसों के तेल का व एक शुद्ध घी का दीपक जलाएं। इसके बाद वहीं बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। हनुमानजी की कृपा पाने का ये एक अचूक उपाय है।



    करें राम रक्षा स्त्रोत का पाठ

    सुबह स्नान आदि करने के बाद किसी हनुमान मंदिर में जाएं और राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करें। इसके बाद हनुमानजी को गुड़ और चने का भोग लगाएं। जीवन में यदि कोई समस्या है, तो उसका निवारण करने के लिए प्रार्थना करें।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×