Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Jyotish Nidaan » Gemstones With Health Benefits

ये चमत्कारी मणियां दूर कर देती हैं बीमारियां, जानिए किन रोगों में है असरदार

बृहत्संहिता के रत्न अध्याय में उल्लेख है कि सिर्फ कुंडली के ग्रह दोषों को दूर करने के काम नहीं आते हैं, बल्कि इन्हें

यूटिलिटी डेस्क | Last Modified - Feb 19, 2018, 07:07 PM IST

  • ये चमत्कारी मणियां दूर कर देती हैं बीमारियां, जानिए किन रोगों में है असरदार, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    बृहत्संहिता के रत्न अध्याय में उल्लेख है कि सिर्फ कुंडली के ग्रह दोषों को दूर करने के काम नहीं आते हैं, बल्कि इन्हें पहनने से कई तरह की बीमारियां खत्म हो जाती है। दरअसल, आयुर्वेद में भी रत्नों की भस्म द्वारा रोग निवारण के अनेक प्रयोग बताए गए हैं। इसका वैज्ञानिक कारण रत्न में उपस्थित विशेष रासायनिक तत्व हैं।

    जब इन रत्नों को पहना जाता है तो शरीर पर इनका स्पर्श होता है और लगातार इनमें मौजूद रासायनिक तत्वों के संपर्क में आने से रोग खत्म होते हैं। इसके अलावा सीधे तौर पर इनकी भस्म का सेवन कर लिया जाए तो रोग को जड़ से खत्म किया जा सकता है। आइए जानते हैं कौनसा रत्न किस बीमारी में उपयोगी साबित हो सकता है…

    1. पन्ना (मरकत मणि)- स्मरण शक्ति के लिए धारण करें।

    2. नीलम (नीलमणि )- गठिया, मिर्गी, हिचकी और नपुंसकता को खत्म करता है।

    3. फिरोजा- दैविक आपदाओं से बचाने के लिए फिरोजा धारण करें।

    अगली स्लाइड पर पढ़ें- कुछ और रत्नों और उनकी उपयोगिता के बारे में...

    कुछ मणियों के नाम - संस्कृत और हिन्दी में

    गहरत्न - गोमेद

    पुष्पराग - पुखराज

    वैदूर्यमणि - लहसुनिया

    माणिक्य - माणिक

    प्रवाल मणि - मूंगा

  • ये चमत्कारी मणियां दूर कर देती हैं बीमारियां, जानिए किन रोगों में है असरदार, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    4. मरियम- बवासीर या बहते हुए रक्त को रोकने के लिए।
    5. माणिक- खून की कमी दूर करने के लिए।
    6. मोती- तनाव व नसों से जुड़े रोगों के लिए।
    7. किडनी स्टोन- किडनी रोग निवारण के लिए।
    8. लाडली- दिल की बीमारियों, बवासीर व नजर रोग के लिए धारण कर सकते हैं।
    9. मूंगा, मोती-मुंहासों के लिए धारण करें।

  • ये चमत्कारी मणियां दूर कर देती हैं बीमारियां, जानिए किन रोगों में है असरदार, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    0. पन्ना, नीलम, लाजवर्त-पेप्टिक अल्सर में उपयोगी है।
    11. पुखराज, लाजवर्थ, मूनस्टोन- दांतों के लिए।
    12. माणिक, मोती, पन्ना- सिरदर्द के लिए।
    13. गौमेद या मूनस्टोन- गले की खराबी के लिए।
    14. माणिक, मूंगा, पुखराज-सर्दी, खांसी, बुखार जिसे बार-बार होता है, वे धारण कर सकते हैं।
    15. मूंगा, मोती, पुखराज- बार-बार होने वाली दुर्घटनाअों से बचने के लिए।
    16. तांबे की चेन- कुकुर खांसी के लिए।

  • ये चमत्कारी मणियां दूर कर देती हैं बीमारियां, जानिए किन रोगों में है असरदार, religion hindi news, rashifal news
    +3और स्लाइड देखें

    17. मूंगा, मोती, पन्ना- मूंगा, मोती, पन्ना एक ही अंगुठी में मोतियाबिंद को खत्म करने के लिए धारण करें।
    18. मूंगा, पुखराज- कब्ज मुक्ति के लिए।
    19. पन्ना, पुखराज, मूंगा- पन्ना, पुखराज, मूंगा एक ही अंगुठी में ब्रेन ट्यूमर के लिए धारण करें।
    20. मोती, पुखराज- चांदी की चेन में हर्निया के लिए धारण करें।
    कोई भी रत्न शुभ-अशुभ दोनों प्रकार से फल दे सकता है। इसलिए सुख पाने के लिए अपनी कुंडली किसी अच्छे ज्योतिषी को दिखाकर ही रत्न धारण करें।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×