Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Jyotish Nidaan» Chaitra Navratri 2018 Start From 18 To 25 March

चैत्र नवरात्र 18 से, सर्वार्थसिद्धि योग में होंगे शुरू और इस बार भी आठ दिन होगी पूजा

इस साल उतरा-भाद्रपद नक्षत्र और मीन राशि में नया साल विक्रम संवत 2075 व नवरात्र शुरू हो रहे हैं।

यूटिलिटी डेस्क | Last Modified - Mar 15, 2018, 12:40 PM IST

  • चैत्र नवरात्र 18 से, सर्वार्थसिद्धि योग में होंगे शुरू और इस बार भी आठ दिन होगी पूजा, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    इस साल उतरा-भाद्रपद नक्षत्र और मीन राशि में नया साल विक्रम संवत 2075 व नवरात्र शुरू हो रहे हैं। इससे सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। इस साल के राजा सूर्य और मंत्री शनि होंगे। वहीं अष्टमी और नवमी एक साथ पड़ने के कारण नवरात्र आठ दिन के होंगे। यह लगातार चौथा साल है जब नवरात्र 8 दिन के रहेंगे। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं प्रफुल्ल भट्ट ने बताया कि 18 मार्च को सूर्योदय के साथ ही सर्वार्थसिद्धि योग शुरू हो जाएगा, जो सूर्य अस्त तक रहेगा। इसी दिन घट स्थापना के साथ शक्ति की आराधना शुरू की जाएगी। उनका कहना है कि पिछले 4 सालों से चैत्र नवरात्रि आठ दिनों की पड़ रही है। इस साल भी अष्टमी और नवमी तिथि एक दिन है।

    इन वर्षों में आठ दिन के रहे नवरात्र

    साल 2018 में चैत्र नवरात्रि 18 मार्च से शुरू होकर 25 मार्च तक रहेगी। इससे पहले 2017 में 29 मार्च से 5 अप्रैल तक थी। 2016 में 8 मार्च से 15 मार्च और 2015 में 21 से 28 मार्च तक नवरात्र थे। हालांकि, 2014 में नवरात्रि 31 मार्च से 8 अप्रैल तक थी, यानी पूरे 9 दिनों की, ज्योतिषियों के मुताबिक जब दो तिथियां एक साथ आती हैं तब ऐसी स्थिति बनती है। कुछ विद्वानों के अनुसार नवरात्र की तिथियाें का कम होना अच्छा नहीं माना जाता।

    एक दिन पहले 17 मार्च को शाम 7.41 बजे प्रारंभ होगी प्रतिपदा

    इस वर्ष साल 2018 में प्रतिपदा तिथि एक दिन पहले अर्थात 17 मार्च को संध्याकाल में 7.41 बजे प्रारंभ हो जाएगी, लेकिन इसे सूर्योदय काल से 18 मार्च को ही माना जाएगा। बीते कुछ वर्षों की तरह इस बार भी तिथियों का फेर हो रहा है। इस बार 25 मार्च रविवार को अष्टमी और नवमी तिथि में सूर्योदय होगा। जिससे ये तिथियां एक ही दिन पड़ रही है। तिथियों की घट-बढ़ कुछ सालों से नवरात्रि में प्रायः देखने मिल रही है। हालांकि इससे व्रत नियमों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

    आगे पढ़ें घट स्थापना के शुभ मुहूर्त और 8 दिनों की नवरात्रि का कैसा असर रहेगा-

  • चैत्र नवरात्र 18 से, सर्वार्थसिद्धि योग में होंगे शुरू और इस बार भी आठ दिन होगी पूजा, religion hindi news, rashifal news
    +1और स्लाइड देखें

    ये है घट स्थापना के मुहूर्त -

    नवरात्रि घट स्‍थापना प्रतिपदा तिथि में होती है। इस साल प्रतिपदा तिथि 17 मार्च 2018, शनिवार को शाम 18:41 बजे से शुरू होकर 18 मार्च 2018, रविवार शाम लगभग 18:31 तक रहेगी।

    नवरात्रि कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त इस बार सुबह 06:40 से 07:50 बजे तक हैं। इसके अलावा अभिजित मुहूर्त में दोपहर 12:07 से 12:35 तक भी कर सकते हैं। वहीं शुभ चौघड़िया मुहूर्त के अनुसार सुबह 8:10 से दोपहर 12:35 तक और दोपहर 2:10 से 3:30 के बीच में भी घट स्थापना कर सकते हैं।

    शुभारंभ व समापन दोनों रविवार को

    पं भट्ट का कहना है कि नववर्ष विक्रम संवत 2075 में वर्ष का शुभारंभ रविवार को होने पर इस दिन के स्वामी सूर्य वर्ष के राजा और शनि मंत्री होंगे। चूंकि दोनों ग्रह परस्पर विरोधी हैं। इसके बावजूद सूर्य का प्रभाव दिखाई देगा। दुनिया में भारत का वर्चस्व बढ़ेगा। वहीं शनि के मंत्री रहते न्याय व्यवस्था मजबूत होगी। एक ओर विशेष योग बन रहा है वह यह कि नवरात्र का शुभारंभ और समापन दोनों ही रविवार के दिन होंगे जो कि एक शुभ संदेश है।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×