Home » Jeevan Mantra »Jeevan Mantra Junior »Sanskar Aur Sanskriti » How To Worship The Sun God?

रविवार को इस तरह चढ़ाएं सूर्य को जल, नहीं होगी यश कमी खत्म होने लगेंगी बीमारियां

सूर्य ही ऊर्जा और जीवन का स्त्रोत है। इसलिए सूर्य पूजन की परंपरा भारत में वैदिक काल से रही है।

जीवनमंत्र डेस्क | Last Modified - Dec 02, 2017, 01:39 PM IST

  • रविवार को इस तरह चढ़ाएं सूर्य को जल, नहीं होगी यश कमी खत्म होने लगेंगी बीमारियां
    +2और स्लाइड देखें
    sun worship

    सूर्य ही ऊर्जा और जीवन का स्त्रोत है। इसलिए सूर्य पूजन की परंपरा भारत में वैदिक काल से रही है। मान्यता है कि सूर्य की आराधना से शरीर स्वस्थ रहता है और जीवन में यश और वैभव मिलता है। यदि रोजाना सूर्य की आराधना के लिए वक्त नहीं मिलता है तो रविवार को करना चाहिए। इससे भी पूजा का पूरा फल मिलता है...

    अगली स्लाइड पर पढ़ें- कैसे करना चाहिए सूर्य की आराधना...

  • रविवार को इस तरह चढ़ाएं सूर्य को जल, नहीं होगी यश कमी खत्म होने लगेंगी बीमारियां
    +2और स्लाइड देखें
    sun worship

    कैसे करना चाहिए सूर्य की आराधना
    सूर्य की उपासना की मुख्य बात ये है कि सूर्योदय से पहले उठ जाना चाहिए। उसके बाद स्नान आदि करके सूर्यदेव को अर्घ्य देना चाहिए। सूर्य के सामने खड़े होकर अर्घ्य देने से जल की धारा के अंतराल से सूर्य की किरणों का जो प्रभाव शरीर पर पड़ता है उससे शरीर में मौजूद रोग के की‍टाणु खत्म हो जाते हैं और ‍व्यक्ति के शरीर में ऊर्जा का संचार होने से सूर्य के तेज की ‍रश्मियों से शक्ति आती है।

  • रविवार को इस तरह चढ़ाएं सूर्य को जल, नहीं होगी यश कमी खत्म होने लगेंगी बीमारियां
    +2और स्लाइड देखें
    sun worship

    अर्घ्य दो तरह से दिया जाता है। एक नदी या सरोवर के जल में खड़े होकर अंजली से और दूसरा तांबे के पात्र में जल भरकर अपने दिमाग से ऊपर ले जाकर खुद के सामने की ओर उगते हुए सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए। इसमें एक तांबे के लोटे में जल लेकर उसमें चंदन, चावल व फूल लेकर अर्घ्य चढ़ाना चाहिए। जल पैरों में न आए, इसके लिए तांबे या कांसे की थाली रख लें। थाली में जो जल एकत्र हो, उसे माथे पर, दिल और दोनों बाहों पर लगाएं। बचा हुआ जल मिट्टी से भरे गमले में डाल दें। 'आदित्य हृदय स्तोत्र' या 'सूर्याष्टक' का पाठ करें। सूर्य के सामने बैठकर करने पर इसका असर बहुत जल्दी दिखाई देता है और शरीर निरोगी बनता है।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×