Home » Jeevan Mantra »Jeevan Mantra Junior »Sanskar Aur Sanskriti » Peepal Puja Vidhi And Mantra

इस तरह करेंगे पीपल की पूजा तो दूर हो सकती हैं परेशनियां, मिलता है सुख और ऐश्वर्य

श्रीमद् भागवत में श्रीकृष्ण ने पीपल को स्वयं का ही एक स्वरूप बताया है।

जीवनमंत्र डेस्क | Last Modified - Nov 29, 2017, 05:35 PM IST

  • इस तरह करेंगे पीपल की पूजा तो दूर हो सकती हैं परेशनियां, मिलता है सुख और ऐश्वर्य
    +3और स्लाइड देखें

    पीपल के पूजन की प्रथा भारत में सालों से रही है। वेदों में भी जहां एक ओर इसका ज़िक्र मिला है वहीं दूसरी तरफ गीता में खुद को श्रीकृष्ण ने पीपल कहा है। यही कारण है कि ज्योतिष में पीपल के पूजन को पापों को मिटाने वाला माना गया है। पीपल की पूजा से सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं। दुनियां के सारे सुख, ऐश्वर्य की प्राप्त हो सकते हैं। आइए जानते पूजा करने की शास्त्रों में बताई गई खास विधि...

    जिस दिन पीपल का पूजन करना है, उस दिन सूर्योदय के पहले जागकर नित्य कर्म करने के सफेद कपड़े पहनकर किसी ऐसे स्थान पर जाएं जहां पीपल स्थित हो। पीपल की जड़ में गाय का दूध, तिल और चंदन मिला हुआ पवित्र जल अर्पित करें। जल अर्पित करने के बाद जनेऊ फूल व प्रसाद चढ़ाएं। धूप-बत्ती व दीप जलाएं। आसन पर बैठकर या खड़े होकर मंत्र जप करें या इष्ट देवी-देवताओं का स्मरण करें।

    अगली स्लाइड पर पढ़ें- पीपल के पूजन का मंत्र अौर उपाय ....

  • इस तरह करेंगे पीपल की पूजा तो दूर हो सकती हैं परेशनियां, मिलता है सुख और ऐश्वर्य
    +3और स्लाइड देखें
  • इस तरह करेंगे पीपल की पूजा तो दूर हो सकती हैं परेशनियां, मिलता है सुख और ऐश्वर्य
    +3और स्लाइड देखें
  • इस तरह करेंगे पीपल की पूजा तो दूर हो सकती हैं परेशनियां, मिलता है सुख और ऐश्वर्य
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×