Home » Jeevan Mantra »Jeevan Mantra Junior »Sanskar Aur Sanskriti » How To Get Rid Of Bad Luck!

मनोकामनाएं पूरी होती है और दुर्भाग्य खत्म होने लगता है इस 1 आसान उपाय से

उपासना के साथ-साथ 3 माला महा मंत्र गायत्री की उपासना करने से लाभ अधिक जल्दी मिलेगा।

जीवनमंत्र डेस्क | Last Modified - Dec 27, 2017, 01:05 PM IST

  • मनोकामनाएं पूरी होती है और दुर्भाग्य खत्म होने लगता है इस 1 आसान उपाय से

    हर इंसान चाहता है कि उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी हों मगर ऐसा हो नहीं पाता। यही कारण है कि मानव अपनी मनोकाना की पूर्ति के लिए काफ़ी भटकाता है। आज हम आप को एक रहस्य की बात बता रहे है। आप अपनी उपासना में यदि कुछ सुधार कर लें तो काफी हद तक कामना पूर्ति हो सकती है। दरअसल, बीज मंत्र क्लीं सब प्रकार की मनोकामनाओ की सिद्धि के लिए बड़ा ही प्रभावशाली मना गया है।

    कैसे करें

    क्लीं एक सफ़ेद कागज़ के ऊपर लिखना चाहिए। लगभग 1 फुट व्यास का गोल कागज़ लेकर पेंसिल से लगभग चार अंगुल ऊंचा अक्षर लिखना चाहिए फिर उस कागज़ का खाली भाग सिंदूर से लाल रंग डालना चाहिए। तेल मिले हुए सिंदूर का रंग ठीक रहता है, पानी या चाक द्वारा बनाया गया रंग जल्दी उड़ जाता है। इस प्रकार आकृति तैयार करने के बाद राेजाना सुबह, मन की शांत अवस्था में चित्रपट से लगभग 2 फिट दूर बैठना चाहिए।
    आकृति को सामने दीवार पर टांग देना चाहिए या चिपका देना चाहिए। इस आकृति को नियमित 15 मिनट से आरंभ करके 1 घंटा तक स्थिर दृष्टि से ताकना चाहिए। यह स्थिर दृष्टि त्राटक की तरह नहीं होती ,क्योकि वैसा करने से आंखों की ज्योति घटने का भय रहता है। यह उपयोग ध्यान का होता है जबकि त्राटक का उद्देश्य दृष्टि को वेधक बनाना होता है। थोड़ी देर तक खूब ध्यानपूर्वक क्लीं को देखकर आंखे बांध कर लेनी चाहिए और तब इस बीजमंत्र को आंखे खोले बिना ही अपने कपाल पर देखने का प्रयत्न करना चाहिए।
    क्या ध्यान रहे तो मिलेगी सफलता
    अपनी उपासना के साथ-साथ 3 माला महा मंत्र गायत्री की उपासना करने से लाभ अधिक जल्दी मिलेगा। श्रद्धा और निष्ठा से की हुई उपासना फल निश्चित ही देती है। साथ ही, एक निश्चित समय और निश्चित स्थान होना चाहिए। इस से मन नियंत्रित रहता है और मन स्थिर सहज हो जाता है। जप नियमित करने से मानसिक स्थिरता होती जाएगी ,वैसे वैसे मंत्र जप काम होता जाएगा। अंत में ऐसा समय आएगा की जप की आवश्यकता नहीं होगी और स्वयं ही क्लीं मय हो जाओगे और ऐसा होने से ही सभी मनोकामना की सिद्धि होती है और दुर्भाग्य दूर हो जाता है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×