Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm » 10 Mahavidhya Goddess Durga Is One Source Of Them

इनको कहते हैं दस महाविद्याएं, एक को भी किया प्रसन्न तो मिलेगा हर सुख

दस महाविद्या को देवी दुर्गा के दस रूप माने जाते हैं। ये महाविद्याएं ही तंत्र और मंत्रों की असली शक्ति हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 02, 2018, 03:21 PM IST

  • इनको कहते हैं दस महाविद्याएं, एक को भी किया प्रसन्न तो मिलेगा हर सुख
    +1और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क. देवी दुर्गा शक्ति की प्रतीक हैं। दस महाविद्या को देवी दुर्गा के दस रूप माने जाते हैं। ये महाविद्याएं ही तंत्र और मंत्रों की असली शक्ति हैं। इन्हीं की सिद्धि से सारी शक्तियों को पाया जा सकता है। कहा जाता है कि इन महाविद्याओं की शक्तियां ही पूरे संसार को चलाती हैं। काशी के तंत्र साधक स्वामी महेश्वरानंद के अनुसार देवी दुर्गा के ये सभी स्वरूप तंत्र साधना में बहुत उपयोगी और महत्वपूर्ण माने गए हैं। आइए जानते हैं मान्यता के अनुसार किस महाविद्या की पूजा तंत्र में किस इच्छा पूर्ति के लिए की जाती है।

    1. काली-माना जाता है मां ने काली रूप दैत्यों के संहार के लिए लिया था। जीवन का हर दुख और परेशानी दूर करने के लिए इनकी आराधना की जाती है।

    2. देवी तारा- सौंदर्य व रूप ऐश्वर्य की देवी तारा आर्थिक उन्नति के साथ ही भोग और मोक्ष देने वाली मानी जाती है।

    3. ललिता मां- ललिता मां लाल वस्त्र पहनकर कमल पर बैठी हैं। इनकी पूजा यश और समृद्धि पाने के लिए की जाती है।

    4. भुवनेश्वरी- माता भुवनेश्वरी ऐश्वर्य की स्वामिनी है। देवी-देवताओं की आराधना में इन्हें विशेष शक्ति देने वाला माना गया है।

    5. त्रिपुर भैरवी - मां त्रिपुर भैरवी तमोगुण व रजोगुण की देवी है। इनकी आराधना विशेष विपत्तियों को शांत करने और सुख पाने के लिए की जाती है।

    शेष पांच महाविद्याएं देखें अगली स्लाइड में....

  • इनको कहते हैं दस महाविद्याएं, एक को भी किया प्रसन्न तो मिलेगा हर सुख
    +1और स्लाइड देखें

    6 छिन्नमस्तका-. मां छिन्नमस्ता की साधना से भौतिक सुख, वाद विवाद में विजय और सम्मोहन शक्तियों के साथ आलौकिक संपदाएं मिलती हैं।

    7. धूमावती-धूमावती का स्वरूप बड़ा मलिन और भयंकर है। गरीबी के नाश तंत्र मंत्र व जादू टोना आदि से मुक्ति के लिए मां धूमावती की आराधना की जाती है।

    8. बगलामुखी- देवी बगलामुखी शत्रुअों को खत्म करने वाली देवी है। ये भक्तों के भय को दूर करके शत्रुओं और उनकी बुरी शक्तियों का नाश होता है।

    9. देवी मातंगी- गृहस्थ सुख, शत्रुओं का नाश, विलास, अपार सिद्धियां, काल ज्ञान आदि के लिए देवी मातंगी की साधना की जाती है।

    10. मां कमला - धन संपंदा की अधिष्ठात्री देवी है, भौतिक सुख की इच्छा रखने वालों के लिए इनकी आराधना श्रेष्ठ मानी जाती है।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×