Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm » In April Month Do This 1 Work, Will End Bad Day

अप्रैल में सिर्फ ये 1 काम करने से दूर हो सकते हैं आपके बुरे दिन

हिंदू वर्ष का दूसरा महीना वैशाख 1 अप्रैल, रविवार से शुरू हो चुका है, जो 30 अप्रैल, सोमवार तक रहेगा।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 02, 2018, 11:34 AM IST

  • अप्रैल में सिर्फ ये 1 काम करने से दूर हो सकते हैं आपके बुरे दिन
    +1और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क.हिंदू वर्ष का दूसरा महीना वैशाख 1 अप्रैल, रविवार से शुरू हो चुका है, जो 30 अप्रैल, सोमवार तक रहेगा। धार्मिक दृष्टि से प्रत्येक महीने का अपना एक विशेष महत्व है। वैशाख के विषय में धर्म ग्रंथों में लिखा है कि-


    न माधवसमो मासों न कृतेन युगं समम्।
    न च वेदसमं शास्त्रं न तीर्थं गंगया समम्।।
    (स्कंदपुराण)

    अर्थात- वैशाख के समान कोई महीना नहीं है, सत्ययुग के समान कोई युग नहीं है, वेद के समान कोई शास्त्र नहीं है और गंगाजी के समान कोई तीर्थ नहीं है।

    वैशाख का महत्व
    धर्म ग्रंथों के अनुसार, स्वयं ब्रह्माजी ने वैशाख को सब मासों से उत्तम मास बताया है। भगवान विष्णु को प्रसन्न करने वाला इसके समान दूसरा कोई मास नहीं है। जो वैशाख मास में सूर्योदय से पहले स्नान करता है, उससे भगवान विष्णु विशेष स्नेह करते हैं। सभी दानों से जो पुण्य होता है और सब तीर्थों में जो फल मिलता है, उसी को मनुष्य वैशाख मास में केवल जल दान करके प्राप्त कर लेता है।

    वैशाख में करें जल दान
    जो इस मास में जल दान नहीं कर सकता, यदि वह दूसरों को जल दान का महत्व समझाए, तो भी उसे श्रेष्ठ फल प्राप्त होता है। जो मनुष्य इस मास में प्याऊ लगाता है, वह विष्णु लोक में स्थान पाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि जिसने वैशाख मास में प्याऊ लगाकर थके-मांदे मनुष्यों को संतुष्ट किया है, उसने ब्रह्मा, विष्णु और शिव आदि देवताओं को संतुष्ट कर लिया।

    ये होता है फायदा
    जो व्यक्ति वैशाख मास में लोगों को पानी पिलाता है या प्याऊ लगाता है। त्रिदेव यानी ब्रह्मा, विष्णु व महादेव प्रसन्न होते हैं। साथ ही इससे दुर्भाग्य भी दूर हो सकता है।

    ये भी पढ़ें-

    मौत से पहले यमराज सभी को देते हैं ये 4 संकेत, आप को तो नहीं मिले?

    गलती से भी न रखें अपने बच्चों के ये 10 नाम, ये है इसका कारण

  • अप्रैल में सिर्फ ये 1 काम करने से दूर हो सकते हैं आपके बुरे दिन
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×