Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm Granth » Vrat Vidhi | Hindu Puja Vidhi As Per Vaman Puran

12 दिनों तक ऐसे उपवास करने पर खत्म होता है दुर्भाग्य, चमक सकती है किस्मत

वामन पुराण में बताया गए है किस तरह किया गया उपवास होता है सबसे खास

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Feb 23, 2018, 05:29 PM IST

  • 12 दिनों तक ऐसे उपवास करने पर खत्म होता है दुर्भाग्य, चमक सकती है किस्मत
    +4और स्लाइड देखें

    वामन पुराण के अथ द्विषष्टितमोध्याय में दिए गए एक प्रसंग में देवी-देवता और भगवान विष्णु के बीच कई तरह के सवाल-जवाबों का वर्णन दिया गया है। ये बातें मनुष्य जीवन को सफल बनाने के लिए और सभी तरह के दुखों और परेशानियों से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित होती है।

    श्लोक नं 16 और 17 में स्वयं भगवान विष्णु ने उपवास का एक खास तरीका बताया है। जो भी मनुष्य इस तरीके से 12 दिनों तक उपावास करता है, उसको सभी तरह की परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है। इस तरह उपवास करने वाले मनुष्य पर भगवान विष्णु बेहद प्रसन्न होते हैं और उसका बुरा समय दूर करते हैं।

    श्लोक-

    त्र्यहमुष्णं पिबेदाप: त्र्यहमुष्णं पय: पिबेत्। त्र्यहमुष्णं पियेत्सर्पिर्वायुभक्षो दिनत्रयम्।।

    एला द्वादश तोयस्य पलाष्टौ पयस: सुरा: ।षट्पलं सर्पिष: प्रोत्तं दिवसे दिवसे पिबेत्।।

    अर्थ-

    जो भी 12 दिनों की इस उपवास विधि का पालन करता है, उसे मनचाहा फल मिल सकता है। उपवास के पहले 3 दिन सिर्फ गर्म पानी पीना है। इसके बाद तीन दिनों तक केवल गर्म दूध का सेवन करना होगा। इसके बाद के तीन दिनों तक गर्म घी पीकर दिन निकालना होंगे और अंतिम तीन दिनों तक निराहार उपवास करना होगा, जिसमें न तो कुछ खाना है, न पीना है।

    यही उपवास का सबसे उत्तम तरीका है, जिसका पालन करने वाले मनुष्य को कई शुभ फल की प्राप्ति हो सकती है।

    आगे देखें खबर का ग्राफिकल प्रेजेंटेशन...

  • 12 दिनों तक ऐसे उपवास करने पर खत्म होता है दुर्भाग्य, चमक सकती है किस्मत
    +4और स्लाइड देखें
  • 12 दिनों तक ऐसे उपवास करने पर खत्म होता है दुर्भाग्य, चमक सकती है किस्मत
    +4और स्लाइड देखें
  • 12 दिनों तक ऐसे उपवास करने पर खत्म होता है दुर्भाग्य, चमक सकती है किस्मत
    +4और स्लाइड देखें
  • 12 दिनों तक ऐसे उपवास करने पर खत्म होता है दुर्भाग्य, चमक सकती है किस्मत
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×