Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm Granth » How To Worship Parad Shivling At Home

इस 1 शिवलिंग की पूजा करने पर मिलता है करोड़ों गुना फल, जानें कब और कैसे करें

करोड़ों शिवलिंग की पूजा के बराबर फल देती है इस खास शिवलिंग की 1 पूजा

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Dec 23, 2017, 05:00 PM IST

  • इस 1 शिवलिंग की पूजा करने पर मिलता है करोड़ों गुना फल, जानें कब और कैसे करें
    +3और स्लाइड देखें

    पारद को शंभू-बीज माना जाता है। इसकी उत्पत्ति के बारे में कहा गया है कि यह शिव के वीर्य से उत्पन्न हुआ है। यही कारण है कि शास्त्रों में इसे साक्षात शिव ही माना गया है।

    शिवपुराण में पारद शिवलिंग के महत्व और उसकी पूजा के फल के बारे में विस्तार में बताया गया है। आज हम आपको इसी की पूजा के महत्व आदि के बारे में बताएंगे।

    1. शिवपुराण के अनुसार-

    लिंगकोटी सहस्त्रस्य यत्फलं सम्यगर्चनात्।

    तत्फलं कोटिगुणितं रसलिंगार्चनाद्वेत्।।

    अर्थ-

    करोड़ों शिवलिंगों के पूजन से जिस फल की प्राप्ति होती है, उससे भी करोड़ गुना फल की प्राप्ति पारद शिवलिंग के पूजन और दर्शन से होती है। पारद शिवलिंग के स्पर्श मात्र से मोक्ष की प्राप्ति होती है।

    2. घर के ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्व दिशा में पारद शिवलिंग की स्थापना कर, रोज पूजा-अर्चना करनी चाहिए। ऐसा करने से जीवन की हर सुख-सुविधा मिलती है। ध्यान रखें शिवलिंग की जलाधारी उत्तर दिशा की ओर हो।

    3. जो व्यक्ति रोज सुबह ब्रह्म मुहूर्त में पादर शिवलिंग की पूजा करता है, उसे तीनों लोकों पर स्थित शिवलिंगों के पूजन का फल प्राप्त होता है।

    4. रोज स्नान आदि कर शुद्ध हो जाने के बाद पारद शिवलिंग के दर्शन मात्र से सैकड़ों अश्वमेध यज्ञ, करोड़ों गोदान और हजारों स्वर्ण मुद्राओं के दान करने का फल मिलता है।

  • इस 1 शिवलिंग की पूजा करने पर मिलता है करोड़ों गुना फल, जानें कब और कैसे करें
    +3और स्लाइड देखें
  • इस 1 शिवलिंग की पूजा करने पर मिलता है करोड़ों गुना फल, जानें कब और कैसे करें
    +3और स्लाइड देखें
  • इस 1 शिवलिंग की पूजा करने पर मिलता है करोड़ों गुना फल, जानें कब और कैसे करें
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×