Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm Granth » After Eat Food Say This Mantra, Meal Will Digest, Daily Mantra

खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन

हिंदू धर्म में मंत्रों का विशेष महत्व है। मंत्रों के माध्यम से अनेक कठिन काम भी आसानी से किए जा सकते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 03, 2018, 05:00 PM IST

  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क. हिंदू धर्म में मंत्रों का विशेष महत्व है। मंत्रों के माध्यम से अनेक कठिन काम भी आसानी से किए जा सकते हैं। हमारे ऋषि-मुनियों ने दैनिक जीवन से जुड़े हर काम से पहले या बाद में एक विशेष मंत्र बोलने का विधान बनाया है, लेकिन बदलते समय के साथ हम इस परंपरा से दूर होते जा रहे हैं। आज हम आपको 10 ऐसे मंत्रों के बारे में बता रहे हैं जो सुबह उठने से लेकर रात को सोने से पहले सभी को बोलना चाहिए। ये मंत्र नित्य कर्म पूजा प्रकाश पुस्तक से लिए गए हैं-

    भोजन से पहले ये मंत्र बोलें-
    ऊँ सहनाववतु सहनौभुनक्तु, सहवीर्यम् करवावहै।
    तेजस्विना वधीतमस्तु, माँ विद्विषावहै।।

    लाभ- इससे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

    भोजन के बाद ये मंत्र बोलें-

    अगस्त्यम कुम्भकर्णं च शनिं च बडवानलं।
    भोजनं परिपाकार्थ स्मरेद भीमं च पंचमं।

    लाभ- इससे खाना आसानी से पच जाता है।

    सुबह उठते ही अपनी दोनों हथेलियां देखकर ये मंत्र बोलें-

    कराग्रे वसते लक्ष्मीः करमध्ये सरस्वती।
    करमूले तु गोविन्दः प्रभाते करदर्शनम् ।।

    लाभ- इससे दिन अच्छा गुजरता है।

    धरती पर पैर रखने से पहले ये मंत्र बोलें-

    समुद्रवसने देवि पर्वतस्तन मंडले
    विष्णुपत्नि नमस्तुभ्यं पादस्पशं क्षमस्व में।

    लाभ- ये मंत्र धरती माता से क्षमा मांगने के लिए बोला जाता है।

    दातून (मंजन) से पहले ये मंत्र बोलें-

    आयुर्बलं यशो वर्चः प्रजाः पशुवसूनि च
    ब्रह्म प्रज्ञां च मेधां च त्वन्नो देहि वनस्पते

    लाभ- इससे उम्र व बुद्धि बढ़ती है।

    नहाने से पहले ये मंत्र बोलें-

    गंगे! च यमुने! चैव गोदावरी! सरस्वति! नर्मदे! सिन्धु! कावेरि! जलेस्स्मिन् सन्निधिं कुरु।।

    लाभ- सप्त नदियों का नाम लेने से शरीर शुद्ध हो जाता है।

    सूर्य को अर्घ्य देते समय ये मंत्र बोलें-

    ऊँ भास्कराय विद्महे,
    महातेजाय धीमहि
    तन्नो सूर्य: प्रचोदयात्।।

    लाभ- इससे ग्रह दोष समाप्त होते हैं।

    अध्ययन (पढ़ाई) से पहले ये मंत्र बोलें-

    ऊँ श्री सरस्वती शुक्लवर्णां सस्मितां सुमनोहराम् कोटिचंद्रप्रभामुष्टपुष्टश्रीयुक्तविग्रहाम्

    लाभ- इससे पढ़ने में मन लगता है।

    शाम को पूजा करते समय ये मंत्र बोलें-

    ऊँ भूर्भुव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं
    भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्

    लाभ- गायत्री मंत्र बोलने से सभी दुख दूर होते हैं।

    रात को सोने से पहले ये मंत्र बोलें-

    अच्युतं केशवं विष्णुं हरिं सोमं जनार्दनम्।
    हसं नारायणं कृष्णं जपते दु:स्वप्रशान्तये।।

    लाभ- ये मंत्र बोलने से रात में सोते समय बुरे सपने नहीं आते।

  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
  • खाना नहीं होता डाइजेस्ट तो ऐसे बोलें कुंभकर्ण और भीम का नाम, आसानी से पचेगा भोजन
    +10और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×