Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm Granth » Dont Share Private Chat To These People

एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में

महाभारत के तीर्थयात्रा पर्व में बताया गया है कि किन 6 लोगों के सामने हमें गुप्त बातें नहीं करनी चाहिए।

जीवन मंत्र डेस्क | Last Modified - Jan 04, 2018, 05:00 PM IST

  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें
    हमारे कई धर्म ग्रंथो में लाइफ मैनेजमेंट से जुड़े सूत्र बताए गए हैं। स्मृतियां, पुराण और महाभारत जैसे अन्य धार्मिक ग्रंथों में काम की छोटी-छोटी बातें बताई गई हैं। उन ज्ञान की बातों को मानकर या अपने जीवन में उन उतारकर हम बड़ी परेशानियाें और नुकसान से बच सकते हैं। ऐसा ही ज्ञान महाभारत के एक श़्लोक मे बताया गया है।
    महाभारत न सिर्फ एक धर्म ग्रंथ है, बल्कि इसमें लाइफ मैनेजमेंट से जुड़े कई सूत्र भी बताए गए हैं। जीवन प्रबंधन के ये सूत्र आज के समय में भी प्रासंगिक हैं। महाभारत के तीर्थयात्रा पर्व में बताया गया है कि किन 6 लोगों के सामने हमें गुप्त बातें नहीं करनी चाहिए, नहीं तो हम किसी बड़ी परेशानी में फंस सकते हैं। जानिए किन 6 तरह के लोगों से हमें राज की बातें नहीं शेयर करनी चाहिए-

    श्लोक

    स्त्रियां मूढेन बालेन लुब्धेन लघुनापि वा।
    न मंत्रयीत गुह्यानि येषु चोन्मादलक्षणम्।।
    अर्थ- 1. स्त्री, 2. मूर्ख, 3. बालक, 4. लोभी और 5. नीच पुरुषों के साथ तथा जिसमें 6. उन्माद का लक्षण दिखाई दे, उसके साथ भी गुप्त परामर्श न करें।
    इन 6 लोगों के सामने गुप्त बातें क्यों नहीं करनी चाहिए, ये जानने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें-

    तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।
  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें
    1. ज्यादा बोलने वा स्त्री
    चंचल या ज्यादा बोलने वाली महिला से कभी अपनी प्राइवेट बातें शेयर नहीं करनी चाहिए। चंचल स्वभाव के कारण कई बार स्त्रियां ऐसी बातें सभी के सामने बोल देती हैं, जिससे आपका और परिवार का मान-सम्मान कम हो जाता है। मनु स्मृति और अन्य ग्रंथो में भी स्त्रियों के बारे में ये भी कहा गया है कि इनके पेट में कोई भी गुप्त बात नहीं टिक सकती। कभी न कभी ये किसी के सामने गुप्त बात उजागर कर ही ही देती हैं। इसलिए खासतौर से ज्यादा बोलने वाली और चंचल स्त्रियों के सामने कभी भी कोई गुप्त बात नहीं करनी चाहिए।
  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें

    2. मूर्ख

    आपके आसपास या साथ काम करने वालों में कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे अच्छे-बुरे, अपने-पराए या दोस्त-दुश्मन का फर्क नहीं मालूम पड़ता। एेसा इंसान मूर्ख लोगों की गिनती में आता है। ऐसे व्यक्ति के सामने यदि कोई गुप्त बात कही जाए तो जाने-अनजाने में वह किसी को भी ऐसी राज की बातें बता सकता है। ऐसी बात अगर हमारे दुश्मनों को पता चल जाए तो हम बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं। इसलिए मूर्ख व्यक्ति के सामने कभी कोई गुप्त बात नहीं करनी चाहिए।
  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें

    3. बच्चे

    किसी बच्चे के सामने भी कोई गुप्त बात नहीं कहनी चाहिए, क्योंकि उन्हें नहीं पता होता कि किसके सामने क्या बात बोलनी चाहिए और क्या नहीं। ऐसी स्थिति में बच्चे के सामने कही गई गुप्त दूसरे लोगों को पता चल सकती है और इसका नुकसान हमें आने वाले समय में उठाना पड़ सकता है। इसलिए यदि हमारे आस-पास बच्चे हैं तो हमें सोच-समझ कर ही बातें करनी चाहिए।
  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें

    4. लोभी

    पैसों या अन्य किसी भी तरह का लालच करने वाला व्यक्ति लोभी होता है। जिस इंसान को धन का लालच होता है, वह अपने स्वार्थ की पूर्ति के लिए किसी का भी नुकसान करने से नहीं चूकता। ऐसी स्थिति में वह किसी की भी राज की बात, किसी दूसरे को पैसे के लालच में आकर बता सकता है। फिर चाहे वह आपका दुश्मन ही क्यों न हो। इसलिए लालची इंसानों पर भरोसा कर उसे कभी कोई राज की बात नहीं बतानी चाहिए।

  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें

    5. नीच पुरुष (बुरे काम करने वाला)

    जो व्यक्ति चोरी, लूट, डकैती, मुनाफाखोरी आदि ऐसे काम करते हैं, जिससे दूसरों को नुकसान होता है, वह निम्न श्रेणी के होते हैं। ऐसे लोग अपने फायदे के लिए कुछ भी कर सकते हैं। इसलिए न तो ऐसे लोगों के साथ रहना चाहिए और न ही इनके सामने कभी कोई गुप्त बातें करनी चाहिए।
  • एेसे लोगों से न करें अपनी प्राइवेट बातें, फंस सकते हैं मुसिबत में
    +6और स्लाइड देखें

    6. जिसमें उन्माद के लक्षण दिखाई दें

    कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिनमें उन्माद (पागलपन) के लक्षण दिखाई देते हैं, हालांकि ये पागल नहीं होते। लेकिन कभी-कभी ये ऐसे काम कर देते हैं जो नहीं करना चाहिए। कभी ये अतिउत्साही हो जाते हैं तो कभी निराश नजर आते हैं। ये बिना कारण कुछ भी कर बैठते हैं। ऐसे लोगों के सामने भी कभी कोई राज की बात नहीं करनी चाहिए।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×