Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm Granth » 3 Daily Rituals That Will Help You Live A Happier Life

रोज करें ग्रंथों में बताएं ये 3 काम, हर चीज में मिल सकती है मनचाही सफलता

नीतियां: 3 काम जो आपको आसानी से ले जाएंगे सफलता की राह पर

यूटीलिटी डेस्क | Last Modified - Jan 31, 2018, 05:00 PM IST

  • रोज करें ग्रंथों में बताएं ये 3 काम, हर चीज में मिल सकती है मनचाही सफलता
    +2और स्लाइड देखें

    महर्षि मार्कण्डेय प्राचीन भारत के महान ऋषियों में से एक हैं। इनका जन्म महर्षि भृगु के वंश में हुआ था। महर्षि मार्कण्डेय भगवान विष्णु और भगवान शिव के परम भक्त थे। महर्षि मार्कण्डेय का वर्णन कई पुराणों और ग्रंथों में पाया जाता है।

    महर्षि मार्कण्डेय ने जीवन को सही ढंग से चलाने और पुण्य पाने के लिए कई नीतियां बताई हैं। जिनका पालन करके जीवन में कई लाभ पाए जा सकते हैं। महर्षि मार्कण्डेय ने तीन ऐसे काम बताए हैं, जिन्हें करना सबसे अच्छा माना गया है। इन कामों को करने से मनुष्य को शुभ फल की प्राप्ति जरूर होती है।

    महर्षि मार्कण्डेय के द्वार कहा गया श्लोक

    पुण्यतीर्थाभिषेकं च पवित्राणां च कीर्तनम्।
    सद्धिः सम्भाषणं चैव प्रशस्तं कीत्यते बुधैः।।

    अर्थात- पुण्य तीर्थों में स्नान, पवित्र वस्तुओं का नाम लेना और सत्पुरुषों के साथ बातें करना- ये काम सबसे उत्तम (अच्छे) बताए गए है।

    1. तीर्थों में स्नान

    तीर्थ स्थानों पर स्वयं देवताओं का निवास माना जाता हैं। तीर्थ स्थानों पर जाना, वहां पूजा-अर्चना करना और वहां के कुंड या नदी में स्नान करने के महत्व का उल्लेख कई पुराणों और ग्रंथों में पाया जाता है। तीर्थ स्थानों पर स्नान करने से मनुष्य के सभी पापों का नाश हो जाता है और उसे पुण्य की प्राप्ति होती है। कई तीर्थों पर स्नान करने से मनुष्य को मोक्ष भी मिलता है। तीर्थों पर स्नान करने को सभी कामों में से सबसे अच्छा बताया गया है।

  • रोज करें ग्रंथों में बताएं ये 3 काम, हर चीज में मिल सकती है मनचाही सफलता
    +2और स्लाइड देखें

    2. पवित्र वस्तुओं का नाम लेना

    गोमूत्र, गोबर, गोदुग्ध (दूध), गोशाला हवन, पूजन, तुलसी, मंदिर, अग्नि, पुराण, ग्रंथ ऐसी कई वस्तुओं को पवित्र माना जाता है। इन वस्तुओं का सेवन करने का बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है, लेकिन अगर कोई व्यक्ति ऐसा न कर सके तो केवल उनका नाम ले लेना से ही उसे पुण्य की प्राप्ति हो जाती है। हर मनुष्य को हिंदू धर्म में पवित्र मानी गई चीजों के नाम का उच्चारण पवित्र भाव से करते रहना चाहिए। इससे निश्चित ही शुभ फल मिलता है।

  • रोज करें ग्रंथों में बताएं ये 3 काम, हर चीज में मिल सकती है मनचाही सफलता
    +2और स्लाइड देखें

    3. सत्पुरुषों के साथ बातें करना

    सत्पुरुष यानी विद्वान, ज्ञानी, चरित्रवान और सत्यवादी इंसान। हर मनुष्य को अपने जीवन में सफलता पाने के लिए सही राह की जरुरत होती है। मनुष्य को सही राह विद्वान या ज्ञानी पुरुषों के द्वारा की दिखाई जा सकती है। जिस व्यक्ति को सही-गलत, अच्छे-बुरे, धर्म-अधर्म का ज्ञान होता है, हमें उसका आदर करना चाहिए। ऐसे लोगों से बातें करके हम अपने हित की बात जान सकते हैं। मनुष्य को हमेशा ही विद्वान और ज्ञानी लोगों का सम्मान करना चाहिए और उनकी बताई हुई राह पर चलना चाहिए।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×