Home» Jeevan Mantra »Family Management» Family Management Tips In Hindi For Happiness Of Family

महाभारत की इन बातों में छिपे हैं सुखी परिवार से सूत्र

जीवन मंत्र डेस्क | Feb 21, 2017, 12:35 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
महाभारत की इन बातों में छिपे हैं सुखी परिवार से सूत्र, religion hindi news, rashifal news
चौपड़ के खेल में कहावत है- जरूरी नहीं कि सारे पासे आपके हाथ में हों, जरूरी यह है कि आप बाजी कैसे चलते हैं। इसे यूं समझें कि संसाधन सीमित हो या कभी कोई साधन नहीं भी हो सकता है। ऐसे में हम किस-किस नीयत से निर्णय लेंगे यह महत्वपूर्ण है। कौरवों के पास सारे पासे थे, लेकिन बाजी पांडवों ने सही ढंग से चली, क्योंकि श्रीकृष्ण उनके साथ थे। श्रीकृष्ण यानी स्पष्ट चिंतन, सुदृढ़ निर्णय शक्ति और आत्म-विश्वास। श्रीकृष्ण का यह रूप हमारे भीतर उपस्थित है। बस, उघाड़ना भर है। श्रीकृष्ण जैसी उपलब्धि हमारे भीतर शिक्षा अथवा किसी के मार्गदर्शन से प्राप्त हो सकती है।
श्रीकृष्ण मूल रूप से पारिवारिक व्यक्ति थे, लेकिन अत्यधिक सामाजिक और राष्ट्रीय नेतृत्व करते दिखते थे। हम अधिकतम समय घर से बाहर गुजारते हैं। ऐसे में परिवार बचाने की यही शैली है कि जरूरी नहीं हमारे पास पासे कितने हैं? आवश्यक यह होगा कि हम बाजी कैसे चलें। घरों में ऐसा ही वातावरण है। एक-दूसरे से चाल चल रहे हैं। परिवार एकमात्र ऐसा खेल है, जिसमें या तो सभी को जीतना है या सभी से हारना है। एक ही परिवार में अपनों को हराना और अपनों से जीतना ठीक नहीं है, इसलिए श्रीकृष्ण जैसा गुरु परिवार के केंद्र में होना चाहिए।
गुरुमंत्र लेते समय इसकी गोपनीयता बनाए रखने को कहते हैं। ऐसा क्यों कहा जाता है? दरअसल मनुष्यों का शारीरिक गठन इस प्रकार है कि हम कोई चीज भीतर लाएंगे तो उसको बाहर निकालना ही होगा। भोजन और मल विसर्जन इसी का उदाहरण है। कोई भी वस्तु भीतर रोकने में धैर्य लगता है, तप की जरूरत होती है। इसे पारिवारिक जीवन में अपनाएं। अपने परिवार में पूरी तरह रुकें, प्रत्येक पल को जिएं फिर बाहर की दुनिया भी अलग ही आनंद देगी।
- पं. विजयशंकर मेहता
humarehanuman@gmail.com
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: family management tips in hindi for happiness of family
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      Trending Now

      पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

      दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

      * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
      Top