Home » Jeevan Mantra »Family Management » How To Be Happy In Married Life, Family Management Tips In Hindi, Motivational Stories For Wife And Husband

अगर पत्नी बार-बार गुस्सा करती है तो पति को क्या करना चाहिए

पति-पत्नी अगर छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखेंगे तो जीवन में सुख बना रह सकता है।

यूटिलिटी डेस्क | Last Modified - Feb 27, 2018, 06:17 PM IST

  • अगर पत्नी बार-बार गुस्सा करती है तो पति को क्या करना चाहिए, religion hindi news, rashifal news

    अक्सर पति या पत्नी का क्रोध बड़े विवाद को जन्म देता है। क्रोध हमेशा ही नुकसानदायक होता है और इस भाव में व्यक्ति सही-गलत का फर्क भी भूल जाता है। गुस्से में कई बार ऐसे शब्द बोल दिए जाते हैं जो लंबे समय तक तकलीफ पहुंचाते हैं।

    वैवाहिक जीवन में जीवन साथी के क्रोध का जवाब शांति के साथ देना चाहिए। यदि एक व्यक्ति गुस्से में है तो दूसरे को शांत रहकर बात को संभालने का प्रयास करना चाहिए। दोनों ही क्रोधित हो जाएंगे तो बात बिगड़ना तय है।

    यहां जानिए प्रसिद्ध दार्शनिक सुकरात के वैवाहिक जीवन से जुड़ा बहुत प्रचलित एक किस्सा, किस प्रकार सुकरात ने गुस्से में रहने वाली पत्नी को शांत किया...

    ये है चर्चित किस्सा

    - महान यूनानी दार्शनिक सुकरात के व्यवहार में अहंकार नहीं था। वे बहुत लोकप्रिय, अत्यंत सहज, सहनशील और विनम्र स्वभाव के थे।

    - नम्र स्वभाव के सुकरात की पत्नी बहुत गुस्से वाली थीं। वे छोटी-छोटी बात पर लड़ा करती थीं, लेकिन सुकरात शांत ही रहते थे। वे उनके तानों का कोई जवाब नहीं देते और दुर्व्यवहार की अति हो जाने पर भी कोई जवाब नहीं देते थे।

    जब पत्नी ने सुकरात पर डाल दिया एक घड़ा पानी

    - एक बार सुकरात अपने शिष्यों के साथ घर के बाहर बैठे थे। किसी महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा चल रही थी। तभी घर के अंदर से उनकी पत्नी ने किसी काम के लिए उन्हें आवाज लगाई, लेकिन सुकरात चर्चा में इतने खोए हुए थे कि पत्नी की अावाज पर उनका ध्यान ही नहीं गया।

    - सुकरात को पत्नी ने कई बार पुकारा, लेकिन वे खोए रहने के कारण नहीं सुन पाए। अब तो पत्नी का गुस्सा चरम पर पहुंच गया। उसने शिष्यों के सामने ही एक घड़ा पानी लाकर सुकरात पर डाल दिया।

    - यह देखकर शिष्यों को बहुत बुरा लगा।

    - सुकरात शिष्यों की भावना समझकर शांत स्वर में बोले- देखो, मेरी पत्नी कितनी उदार है। इस भीषण गर्मी में मेरे ऊपर पानी डालकर मुझे शीतलता प्रदान करने की कृपा की।

    और पत्नी का क्रोध हो गया शांत

    - अपने गुरु की सहनशीलता देख शिष्यों ने श्रद्धा के साथ प्रणाम किया और पत्नी का क्रोध भी शांत हो गया।

    - पत्नी के गुस्से का जवाब सज्जनता से देने पर क्रोध शांत हाे जाता है और बड़े विवाद की स्थिति नहीं बनती। घर में शांति बनाए रखने के लिए इस बात का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×