Home » Jeevan Mantra »Jyotish »Rashi Aur Nidaan » 25 May, Ekadashi Special, How To Pray To Lord Vishnu On Ekadashi, Laxmi Puja

विष्णुजी के सामने बैठकर करें 5 उपाय, घर में बढ़ सकती है खुशहाली

25 मई को 3 साल बाद आई है शुभ योग वाली एकादशी, कर सकते हैं महालक्ष्मी के ये उपाय

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 24, 2018, 08:39 AM IST

  • विष्णुजी के सामने बैठकर करें 5 उपाय, घर में बढ़ सकती है खुशहाली, religion hindi news, rashifal news

    रिलिजन डेस्क।शुक्रवार, 25 मई को हिन्दी पंचांग के अनुसार ज्येष्ठ मास के अधिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी है। इस एकादशी को कमला एकादशी कहा जाता है। अधिक मास हर 3 साल में एक बार आता है। शास्त्रों में अधिक मास को पुरुषोत्तम मास कहा गया है। इस कारण इस पूरे महीने में भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है। एकादशी तिथि के स्वामी भी भगवान विष्णु ही हैं। स्कंद पुराण के वैष्णव खंड में एकादशी महात्म्य अध्याय में श्रीकृष्ण ने पूरे वर्ष की सभी एकादशियों का महत्व युधिष्ठिर को बताया है। एकादशी पर किए जाने वाली विष्णु पूजा से सभी पाप खत्म हो सकते हैं, देवी लक्ष्मी की कृपा घर की खुशहाली बढ़ सकती है।

    यहां जानिए अधिक मास में शुक्रवार और एकादशी के योग में कौ-कौन से उपाय किए जा सकते हैं...

    # एकादशी व्रत की सामान्य विधि

    >एकादशी पर सुबह जल्दी उठें और स्नान के बाद साफ कपड़े पहनें। इसके बाद भगवान विष्णु की प्रतिमा के सामने बैठकर एकादशी व्रत करने का संकल्प लें।

    >व्रत करने वाले व्यक्ति को दिनभर अन्न ग्रहण नहीं करना चाहिए, अगर ये संभव न हो तो एक समय फलाहार कर सकते हैं।

    >भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा करें। पूजा किसी विशेषज्ञ ब्राह्मण से करवाएंगे तो ज्यादा शुभ रहेगा।

    >भगवान विष्णु को पंचामृत से स्नान कराएं। चरणामृत ग्रहण करें। भगवान को पीले फूल, धूप, नैवेद्य आदि सामग्री चढ़ाएं। दीपक जलाएं। विष्णुजी के साथ ही देवी लक्ष्मी की पूजा भी करें।

    >विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। एकादशी व्रत की कथा सुनें।

    >दूसरे दिन यानी द्वादशी पर ब्राह्मणों को घर में बैठाकर भोजन कराएं और दान देकर आशीर्वाद प्राप्त करें।

    # एकादशी के उपाय

    1.सुबह जल्दी उठें और स्नान के बाद तुलसी को जल चढ़ाएं। इसी दिन शाम को तुलसी के पास दीपक जलाएं और परिक्रमा करें।

    2.विष्णुजी के साथ ही महालक्ष्मी की पूजा भी करें। पूजा में गोमती चक्र, पीली कौड़ी, दक्षिणावर्ती शंख अवश्य रखें। पूजा के बाद इन चीजों को घर की तिजोरी में रख दें।

    3.विष्णु मंदिर जाएं और भगवान को 11 या 21 केलों का भोग लगाएं। भोग लगाने के बाद केले वहीं भक्तों को बांट दें।

    4.घर के मंदिर में बैठकर ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप 108 बार करें।

    5.किसी गरीब सुहागिन को सुहाग का सामान दान करें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 25 May, Ekadashi Special, How To Pray To Lord Vishnu On Ekadashi, Laxmi Puja
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×