Home » Jeevan Mantra »Jeene Ki Rah »Dharm » 10 Rules Of Hindu Worship, Hindu Religion Worship, Shivling Worship, पूजा के नियम, शिवलिंग पूजा के नियम

शिवलिंग पर न चढ़ाएं हल्दी और शंख से जल, ये हैं पूजा से जुड़े 10 खास नियम

हमारे धर्म ग्रंथों में देवताओं के पूजन से संबंधित बहुत सी जरूरी बातें बताई गई हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 23, 2018, 08:12 PM IST

  • शिवलिंग पर न चढ़ाएं हल्दी और शंख से जल, ये हैं पूजा से जुड़े 10 खास नियम
    रिलिजन डेस्क। हिंदू परिवारों में रोज देवी-देवताओं का पूजन अनिवार्य रूप से किया जाता है। देखा जाए तो पूजा-पाठ हिंदू धर्म का अभिन्न हिस्सा है। हमारे धर्म ग्रंथों में देवताओं के पूजन से संबंधित बहुत सी जरूरी बातें बताई गई हैं। ये बातें बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। आज हम आपको पूजा से जुड़ी यही जरूरी बातें बता रहे हैं-

    1. भगवान शिव को हल्दी नहीं चढ़ाना चाहिए और न ही शंख से जल चढ़ाना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार ये दोनों काम शिव पूजा में निषेध हैं।
    2. सूर्यदेव, श्रीगणेश, दुर्गा, शिव और विष्णु को पंचदेव कहा गया है। किसी भी शुभ काम से पहले इनकी पूजा जरूर करनी चाहिए।
    3. शिवजी को केतकी के फूल, सूर्यदेव को अगस्त्य के फूल न चढ़ाएं। भगवान श्रीगणेश की पूजा तुलसी के पत्ते वर्जित माने गए हैं।
    4. वायु पुराण के अनुसार, जो व्यक्ति बिना नहाए फूल या तुलसी के पत्ते तोड़ देवताओं को अर्पित करता है, उसकी पूजा देवता ग्रहण नहीं करते।
    5. पूजा में शुद्ध घी का दीपक अपनी बांई ओर व तेल का दीपक अपनी दाईं ओर रखना चाहिए। दीपक स्वयं कभी नहीं बुझाना चाहिए।
    6. लिंगार्चन चंद्रिका के अनुसार भगवान सूर्य की सात, श्रीगणेश की तीन, विष्णु की चार और शिव की तीन परिक्रमा करनी चाहिए।
    7. पूजा स्थल पर पवित्रता का ध्यान रखें। चप्पल पहनकर पूजा स्थल तक न जाएं, चमड़े का बेल्ट या पर्स रखकर पूजा न करें।
    8. पूजा करते समय किसी पर गुस्सा न करें और न ही किसी को डांट-फटकारे। प्रसन्न मन से की गई पूजा ही देवता स्वीकार करते हैं।
    9. भगवान विष्णु को पीले वस्त्र, माता दुर्गा, सूर्यदेव व श्रीगणेश को लाल वस्त्र व भगवान शिव को सफेद वस्त्र अर्पित करने का विधान है।
    10. गंगाजल, तुलसी के पत्ते, बिल्वपत्र और कमल, ये चारों बासी नहीं होते। इसलिए इनका उपयोग पूजा में कभी भी किया जा सकता है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×