धन-लक्ष्मी का सम्मान तभी है जब उसका उपयोग जरूरतमंदों के लिए हो। - चाणक्य