Home» Jeevan Mantra »Dharm »Pujan Vidhi» Shukra Pradosh Puja Give Happy Life

खुशियों की सौगातें लाती है शुक्र प्रदोष पूजा

धर्म डेस्क. उज्जैन | Nov 19, 2010, 15:58 PM IST

  • खुशियों की सौगातें लाती है शुक्र प्रदोष पूजा, pujan vidhi religion hindi news, rashifal news

shukra_pradosh_vrat_310हिन्दू धर्म शास्त्रों में लिखा है सत्यं शिवम् सुन्दरम यानि सत्य ही शिव है। व्यावहारिक रूप से भी विचार और व्यवहार में सत्य के आते ही जिंदगी का हर पक्ष सुन्दर हो जाता है। इसलिए शिव की उपासना वास्तव में सत्य आचरण का संकल्प है। सच को अपनाते ही सुख भी साथ चले आते हैं।
सुखों की कामनापूर्ति और मंगल के लिए शिव भक्ति का खास महत्व है। शिव की उपासना के लिए शास्त्रों में प्रदोष व्रत का पालन श्रेष्ठ बताया गया है। धार्मिक मान्यता है कि प्रदोष व्रत के शुभ फल से जिंदगी से जुड़ी हर परेशानियां दूर होती है। अगर मनोरथ पूर्ति या कष्ट, बाधाओं से मुक्ति तरह-तरह के धार्मिक उपायों बाद भी नहीं मिलती तब मात्र प्रदोष व्रत में शिव पूजन से सारे प्रयोजन और फल प्राप्त होते हैं। प्रदोष व्रत में शिव की पूजा प्रदोष काल यानि दिन और रात के मिलन की घड़ी में की जाती है।
शास्त्रों में हर दिन के मुताबिक प्रदोष व्रत का फल व महत्व अलग बताया गया है। इसी कड़ी में शुक्रवार के दिन प्रदोष व्रत के पालन से सुख और सौभाग्य की वृद्धि होती है। किसी उद्देश्य की प्राप्ति के लिए जब कोई तमाम योग्यता, मेहनत करने के बाद भी व्यक्ति अनुकूल परिणाम नहीं पाता, तब कर्म से हटकर व्यक्ति का मन नसीब, भाग्य या किस्मत पर जाने लगता है। शुक्र प्रदोष व्रत पर शिव पूजा ऐसे ही विपरीत हालात में शुभ फल देकर मानसिक जद्दोजहद का अंत करती है।
- शुक्र प्रदोष व्रत में जल का त्याग कर पालन करें।
- इस दिन प्रदोष काल यानि संध्याकाल में शिव की विशेष पूजा का महत्व है।
- सुबह स्नान के बाद भगवान शंकर के साथ माता पार्वती और नंदी को गंगाजल या पवित्र जल चढ़ावें।
- इसके बाद किसी विद्वान ब्राह्मण से या स्वयं भगवान शंकर का विधिवत पूजा करें। इस पूजा में शिवजी को खासतौर पर गंध, अक्षत, फूल के साथ बिल्वपत्र, धतुरा, आंकड़े के फूल चढ़ाएं।
- इसके बाद धूप, दीप से आरती करें।
- शुक्र प्रदोष व्रत में भगवान शिव को जौ के सत्तू के साथ घी, शक्कर का भोग लगाएं।
- शिव पंचाक्षर मंत्र या शिव स्तुति का पाठ करें। इस तरह प्रदोष व्रत पर शिव पूजन सुख-सौभाग्य को बढ़ाती है। दूसरे अर्थों में कोशिशों को कामयाब होने में आ रही बाधाओं को दूर होती है।



Related Articles:

मुसीबतों से बचाए माता-पिता की ऐसी उपासना
ऐसी मुरादों के लिए शिव को चढ़ाएं ये अन्न
किस फूल से करें शिव उपासना?
तमन्नाओं को पूरा करे ऐसी शिव पूजा
हनुमान मंत्र से करें कालसर्प दोष शांति
मनौती पूरी करे शिव का पंचामृत स्नान



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: shukra pradosh puja give happy life
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Next Article

    Recommended

        PrevNext