Home» Jeevan Mantra »Jyotish »Jyotish Nidaan » कौन सा रत्न, किस ग्रह दशा में, कौन से वार और समय, किस अंगुली में पहनें...

कौन सा रत्न, किस ग्रह दशा में, कौन से वार और समय, किस अंगुली में पहनें...

धर्म डेस्क. उज्जैन | Oct 11, 2011, 07:08 AM IST

कौन सा रत्न, किस ग्रह दशा में, कौन से वार और समय, किस अंगुली में पहनें..., religion hindi news, rashifal news

रत्नों का ज्योतिष शास्त्र में काफी अधिक महत्व बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि रत्न धारण करने से संबंधित ग्रह के दोषों का निवारण हो जाता है और जीवन में चल रही परेशानियां खत्म हो जाती हैं। जानिए कौन सा रत्न किस ग्रह के लिए कौन से वार और समय में किस अंगुली में पहनना चाहिए...
- जिन लोगों को शुक्र की महादशा चल रही है उन्हें हीरा धारण करना चाहिए। इसके लिए शुक्रवार सबसे अच्छा दिन है। शुक्रवार को सुबह 10 बजे से 12 बजे के बीच हीरा मध्यमा अंगुली यानि मीडिल फिंगर में पहनना चाहिए।
- जिनकी कुंडली में सूर्य की महादशा चल रही हो उन्हें माणिक धारण करना चाहिए। इसके रविवार का दिन सर्वश्रेष्ठ है। रविवार के दिन सूर्योदय के समय माणिक अनामिका अंगुली यानि रिंग फिंगर में धारण करना चाहिए।
- मोती उन लोगों को धारण करना चाहिए जिन लोगों को चंद्र की महादशा चल रही हो। किसी भी सोमवार को शाम 5 बजे से 7 बजे के बीच अनामिका या कनिष्ठा (सबसे छोटी अंगुली) में मोती धारण करना चाहिए।
- मंगल की महादशा में मूंगा धारण करना सबसे अच्छा उपाय है। मंगलवार के दिन शाम 5 बजे से 7 बजे के बीच मूंगा अनामिका यानि रिंग फिंगर में धारण करने पर श्रेष्ठ फल प्राप्त होते हैं।
- जिन लोगों की कुुंडली में बुध की महादशा चल रही हो उन्हें पन्ना धारण करना चाहिए। पन्ना धारण करने के लिए बुधवार श्रेष्ठ दिन है। दिन के समय 12 बजे से 2 बजे तक सबसे छोटी अंगुली में पन्ना धारण करें।
- पुखराज उन लोगों को धारण करना चाहिए जिन्में गुरु की महादशा चल रही हो। इसके लिए गुरुवार श्रेष्ठ दिन है। गुरुवार को सुबह 10 बजे से 12 बजे के बीच तर्जनी अंगुली यानि इंडेक्स फिंगर में धारण करना चाहिए।
- जिन लोगों को राहु या केतु की दशा चल रही है उन्हें गोमेद धारण करना चाहिए। इसके लिए शनिवार श्रेष्ठ दिन है। शनिवार को सूर्यास्त के बाद मीडिल फिंगर या मध्यमा अंगुली में गोमेद धारण करें।
- यदि किसी व्यक्ति को शनि की महादशा चल रही है उन्हें नीलम धारण करना चाहिए। नीलम धारण करने के लिए शनिवार सबसे अच्छा दिन है। शाम 5 बजे से 7 बजे तक मीडिल फिंगर यानि मध्यमा अंगुली में नीलम धारण किया जा सकता है।
ध्यान रहे किसी भी रत्न को धारण करने से पूर्व किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से परामर्श अवश्य लें। कभी-कभी रत्न का प्रभाव बहुत जल्दी हो जाता है। कुछ परिस्थितियों में रत्न विपरित प्रभाव भी दे सकते हैं अत: बिना ज्योतिषी के परामर्श के रत्न धारण न करें। इसके अलावा रत्न धारण करने से पूर्व कुछ विशेष सावधानियां रखनी चाहिए, इस संबंध में जीवन मंत्र पर लेख प्रकाशित किया गया है।


Related Articles:

नोटों से पर्स भरा रखना हो तो ये चीजें तुरंत हटा दे, क्योंकि
लड़का हो या लड़की एक चुटकी हल्दी जल्दी करा सकती है शादी, क्योंकि...
ऐसे लोगों से बचें क्योंकि ये इन तीनों से ज्यादा जहरीले होते हैं
किस दिन और क्यों नहीं करनी चाहिए तेल मालिश?
भगवान को फूल चढ़ाने से पहले ध्यान रखना चाहिए ये पांच बातें...
भाग्यशाली बनाने वाली इन चीजों को दूध या पानी में रखें फिर पहनें, क्योंकि
इन तीन बुरी शक्तियों से बचना हो तो क्या और क्यों करें...
26 को बहुत से दुर्लभ योग: दीपावली पर शनि है अस्त, जानिए राशिफल...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: कौन सा रत्न, किस ग्रह दशा में, कौन से वार और समय, किस अंगुली में पहनें...
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Comment Now

    Most Commented

        Trending Now

        Top