Home» Jeevan Mantra »Jeevan Mantra Junior »Kahani Aur Kisse » Shocking Secrets Of The Pandavas

महाभारत युद्ध के बाद ऐसे हुई पांडव वंश की कहानी खत्म, ये है पूरी कहानी

जीवनमंत्र डेस्क | Mar 21, 2017, 01:47 IST

Untold stories from Mahabharata about Pandavas exile

महाभारत के अनुसार पांचों पांडवो की अगली पीढ़ी का एकमात्र जीवित सदस्य परीक्षित था। जो कि अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु व उत्तरा की संतान था। उत्तरा के गर्भ पर जब अश्वत्थामा ने ब्रह्मास्त्र का प्रयोग किया था। तब श्रीकृष्ण ने उसके गर्भ में जाकर परीक्षित की रक्षा की थी। श्रीकृष्ण के इस आशीर्वाद के कारण ही पांडव वंश आगे बढ़ पाया, लेकिन वंश बढ़ने के बाद जल्द ही परीक्षित काे अपना शरीर छोड़ना पड़ा और फिर कैसे ये वंश आगे बढ़ा। आखिरी राजा कौन हुआ पूरी रोचक कहानी इस तरह है…

राजा परीक्षित एक बार शिकार पर निकले उन्होंने देखा कि खेत में काला आदमी गाय और बैल को हांक रहा है। वह उन्हें बुरी तरह पीट रहा है। राजा परीक्षित से देखा नहीं गया उन्होंने उस आदमी से पूछा कौन हो तुम और इस बैल और गाय को क्यों तकलीफ दे रहे हो। वह आदमी बोला मैं कलियुग हूं और ये बैल धर्म है और गाय धरती है। मेरे आने का समय हो गया। आप राजा है आपकी आज्ञा के बिना मै आ नहीं सकता इसलिए आप मुझे आने की आज्ञा दीजिए। राजा ने कहा मेरे शासन में कलियुग नहीं आ सकता। कलियुग ने कहा आप प्रकृति का कर्म बदल देंगे। आप मुझे आज्ञा दें ये मेरा अवसर है।
अगली स्लाइड पर पढ़ें- क्या हुआ जब कलियुग आ गया राजा के पास ...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Shocking secrets of the Pandavas
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      Trending Now

      पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

      दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

      * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
      Top